Home /News /rajasthan /

Rajasthan: RTI कार्यकर्ता पर जानलेवा हमला, क्रूरतापूर्वक पैरों में सरिया घुसाया फिर कीलें ठोकी

Rajasthan: RTI कार्यकर्ता पर जानलेवा हमला, क्रूरतापूर्वक पैरों में सरिया घुसाया फिर कीलें ठोकी

आरटीआई एक्टिविस्ट अमराराम का इलाज जोधपुर में पुलिस कस्टडी में करवाया जा रहा है.

आरटीआई एक्टिविस्ट अमराराम का इलाज जोधपुर में पुलिस कस्टडी में करवाया जा रहा है.

Barmer Crime News: राजस्थान के बाड़मेर जिले में कुछ हमलावरों ने आरटीआई कार्यकर्ता पर जानलेवा हमला दिया. हमलावरों ने क्रूरता की सभी हदें पार करते हुए उसके हाथ पैर तोड़ दिये. उसके पैरों में लोहे का सरिया घुसा दिया. बाद में पैरों में कीलें भी ठोक दी. हमलावर आरटीआई कार्यकर्ता को बाद में गांव की सड़क पर फेंक गए. इस मामले को लेकर राज्य मानवाधिकार आयोग ने सख्त रुख अपनाते हुए राजस्थान के डीजीपी समेत बाड़मेर जिला कलक्टर और एसपी को जवाब तलब किया है.

अधिक पढ़ें ...

बाड़मेर. राजस्थान में भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर स्थित बाड़मेर (Barmer) जिले के गिड़ा थाना इलाके में कुछ बदमाशों ने आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम (RTI activist Amraram) पर जानलेवा हमला कर दिया. हमलावरों ने अमराराम का अपहरण करने के बाद उसकी निर्दयतापूर्वक पिटाई कर उसे अमानवीय यातनाएं दीं. हमलावरों ने आरटीआई कार्यकर्ता के दोनों पैर और एक हाथ तोड़ दिया. यही नहीं क्रूरता की हदें पार करते हुए उसके पैरों में कील ठोक दी. पांवों में सरिया डालकर घुमाया और पेशाब भी पिलाया. उसके बाद उसे गांव के पास सड़क किनारे फेंक गए.

जानकारी के अनुसार आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम गोदारा लगातार शराब माफिया के खिलाफ पुलिस को जानकारी दे रहा था. इसके साथ ही वह ग्राम पंचायत में होने वाले घोटालों को लेकर भी एक्टिविस्ट का काम कर रहा था. गत मंगलवार को शाम के समय अमराराम जोधपुर से रवाना होकर अपने गांव आ रहा था. इसी दौरान बदमाशों ने उसका अपहरण कर लिया. बाद में सुनसान जगह पर ले जाकर उसे क्रूरतापूर्वक पीटा.

जोधपुर में चल रहा है इलाज
हमलावरों ने मारपीट कर अमराराम के दोनों पैर और एक हाथ तोड़ दिया. अमानवीयता की हदें पार करते हुए पैरों में कीलें ठोक दीं. सूचना पर लोगों ने घायल अमराराम को स्थानीय अस्पताल पहुंचाया. लेकिन अमराराम की गंभीर हालत को देखते हुए उसे प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत में जोधपुर रेफर कर दिया गया. वहां पर उसका इलाज जारी है.

फेसबुक पर लिखा आखिरी सांस तक लड़ता रहूंगा
आरटीआई एक्टिविस्ट अमराराम ने वारदात से एक दिन पहले ही फेसबुक पर लिखा था कि उसे धमकियां मिल रही हैं. उसने इस बात की जानकारी पुलिस को दे भी थी. अमराराम ने लिखा कि मैं अंतिम सांस तक लड़ता रहूंगा. अमराराम की मांग है कि बदमाशों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.

राज्य मानवाधिकार आयोग की सख्त टिप्पणी
राज्य मानवाधिकार आयोग ने इस पूरे मामले में सख्त रुख अपनाते हुए राजस्थान पुलिस महानिदेशक,आबकारी आयुक्त, बाड़मेर जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से जवाब तलब किया है. आयोग ने पूछा है कि RTI कार्यकर्ता ने क्या क्या शिकायत की थी. उन पर क्या कार्रवाई की गई है. इसके साथ घटना के बाद अब तक क्या कार्रवाई हुई है.

आरोपियों ने बौखलाहट में उठाया कदम
उल्लेखनीय है कि RTI कार्यकर्ता अमराराम लगातार कुंपालिया के पूर्व एवं वर्तमान सरपंच के खिलाफ RTI के जरिये जानकारी मांग रहा था. इसके साथ ही गांव में अवैध शराब के कारोबार की भी गुप्त शिकायत कर रहा था. बताया जा रहा है कि इससे बौखलाये आरोपियों की ओर से वारदात को अंजाम दिया गया है. पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है. लेकिन उनका अभी तक कोई सुराग नहीं लग पाया है.

आरोपियों की तलाश के लिए पुलिस की चार टीमें गठित
पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव ने बताया कि जानकारी मिलने पर आरटीआई एक्टिविस्ट अमराराम का इलाज पुलिस कस्टडी में करवाया जा रहा है. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जोधपुर में उसका इलाज करवा रहे हैं. आरोपियों को पकड़ने के लिए चार टीमें गठित की गई हैं. आरोपियों के खिलाफ कई गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. कुछ संदिग्ध लोगों को पकड़ा भी गया है. उनसे कड़ाई से पूछताछ जारी है.

Tags: Crime in Rajasthan, Rajasthan latest news, RTI

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर