बंद है थार एक्स्प्रेस, नवरात्र में हिंगलाज माता के दर्शन करने पाकिस्तान नहीं जा पा रहे भक्त

भारत-पाकिस्तान के बीच चलने वाली थार एक्सप्रेस के बंद हो जाने से भक्त माता के दर्शन करने पाकिस्तान नहीं जा पा रहे.
भारत-पाकिस्तान के बीच चलने वाली थार एक्सप्रेस के बंद हो जाने से भक्त माता के दर्शन करने पाकिस्तान नहीं जा पा रहे.

पाकिस्तान के बलूचिस्तान में है शक्तिपीठ हिंगलाज माता धाम. पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रान्त के हिंगलाज में हिंगोल नदी के तट पर स्थित यह एक हिन्दू मंदिर है. यह हिन्दू देवी सती को समर्पित इक्यावन शक्तिपीठों में से एक है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2020, 4:24 PM IST
  • Share this:
बाड़मेर. विभाजन से पूर्व पूरे भारत से हजारों संन्यासी, भक्तगण हिंगलाज माता (Mata Hinglaj) के दर्शन करने पाकिस्तान (Pakistan) के बलूचिस्तान जाते थे. विभाजन के बाद साल 2006 में थार एक्सप्रेस (Thar express) शुरू होने के बाद राजस्थान (Rajasthan), गुजरात (Gujarat), मध्य प्रदेश सहित अन्य राज्यों से हजारों लोग वीजा लेकर हिंगलाज माता के दर्शन करने जाने लगे. प्रतिवर्ष नवरात्र के अवसर पर श्रद्धालु पर्यटक वीजा लेकर हिंगलाज दर्शन करने पहुंचते थे. लेकिन भारत-पाक के बीच रिश्ते बिगड़ने पर थार एक्सप्रेस बंद होने और इस बार कोविड-19 के चलते भी सभी धर्मस्थल बन्द होने से कई भक्तों को बलूचिस्तान स्थित हिंगलाज माता के दर्शन करने की इच्छा अधूरी ही रह गई.

गौरतलब है कि पाकिस्तान के बलूचिस्तान में है शक्तिपीठ हिंगलाज माता धाम. पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रान्त के हिंगलाज में हिंगोल नदी के तट पर स्थित यह एक हिन्दू मंदिर है. यह हिन्दू देवी सती को समर्पित इक्यावन शक्तिपीठों में से एक है. यहां इस देवी को हिंगलाज देवी या हिंगुला देवी भी कहते हैं. इस मंदिर को नानी मंदिर के नामों से भी जाना जाता है. यह पाकिस्तान के कई हिंदू समुदायों के बीच आस्था का केन्द्र है. हिंदुस्तान में भी हिंगलाज माता के लाखों अनुयायी हैं. यहां नवरात्र के मौके पर हजारों लोगों का जत्था इस जगह पहुंचता था. जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटाने के बाद बौखलाए पाकिस्तान ने भारत पाकिस्तान के बीच चलने वाली दोस्ती की सौगात थार एक्सप्रेस को बंद कर दिया. इसके बाद कोविड-19 महामारी के दौर में धार्मिक स्थलों के बन्द हो जाने के बाद हिंगलाज माता के भक्त इस बार शारदीय नवरात्र में पाक नहीं जा पा रहे हैं.

भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली थार एक्सप्रेस भारत में रह रहे हिंगलाज के भक्तों के लिए सरल और सुगम साधन बनी थी और यहीं वजह है कि नवरात्र में शक्तिपीठ के दर्शन करने के लिए इसी ट्रेन से आना-जाना होता था. लेकिन इस साल भी थार एक्सप्रेस बंद है. ऐसे में भक्त शारदीय नवरात्र में हिंगलाज शक्तिपीठ नहीं जा पाए जिसका उन्हें बहुत ही मलाल है. लोग माता हिंगलाज के पाकिस्तान से बाड़मेर लाई गई अखंड ज्योत के दर्शन कर ही अपने भक्तिभाव प्रकट कर रहे है.



बाड़मेर ब्रह्म क्षत्रिय समाज के अध्यक्ष लेखराज खत्री बताते हैं कि पाक स्थित हिंगलाज माता के दर्शन करने के लिए पूर्व वित्त एवं विदेश मंत्री जसवंतसिंह के साथ गए थे. उसके बाद लगातार 13 सालों से हिंगलाज माता के दर्शन के लिए जाते हैं लेकिन इस बार कोविड-19 व भारत-पाकिस्तान के बीच पैदा हुई खटास के चलते थार एक्सप्रेस का संचालन नहीं किया जा रहा है जिससे मां के दर्शन करने से वंचित रह गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज