राजस्थान: बेमौसम बारिश का कहर जारी, बाड़मेर में दूसरे दिन भी स्कूलों की छुट्‌टी, यहां आज भी चेतावनी

मौसम विभाग के अनुसार बाड़मेर समेत आधा दर्जन जिलों में मेघ गर्जना के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है.

मौसम विभाग के अनुसार बाड़मेर समेत आधा दर्जन जिलों में मेघ गर्जना के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है.

प्रदेश के रेगिस्तानी जिलों में पिछले दो दिनों से लगातार बारिश का दौर जारी है. पिछले 24 घंटे में बाड़मेर में 3 इंच बारिश दर्ज की गई है. मौसम विभाग के अनुसार बाड़मेर (Barmer), जालौर (Jalore), जोधपुर (Jodhpur), नागौर (Nagaur) और भीलवाड़ा (Bhilwara) जिलों और आसपास के क्षेत्रों में मेघ गर्जना (Thunderstorm) के साथ हल्की से मध्यम बारिश (Rain) होने की संभावना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2019, 8:28 AM IST
  • Share this:
जयपुर. राजस्थान के पश्चिमी जिलों में शुक्रवार को भी आसमी आफत का दौरा जारी रहने वाला है. मौसम विभाग के अनुसार बाड़मेर (Barmer), जालौर (Jalore), जोधपुर (Jodhpur), नागौर (Nagaur) और भीलवाड़ा (Bhilwara) जिलों और आसपास के क्षेत्रों में मेघ गर्जना (Thunderstorm) के साथ हल्की से मध्यम बारिश (Rain) होने की संभावना है. प्रदेश के रेगिस्तानी जिलों में पिछले दो दिनों से लगातार बारिश का दौर जारी है. पिछले 24 घंटे में बाड़मेर में 3 इंच बारिश दर्ज की गई है. नवंबर में इस बेमौसम बारिश से आम जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है. इन इलाके में गुरुवार तक एक दर्जन स्थानों पर बिजली गिरने और दो लोगों की मौत की सूचना मिली है.



लगातार बारिश से स्कूलों की छुट्‌टी

पश्चिमी विक्षोभ के चलते बिगड़े मौसम ने बाड़मेर में जनजीवन प्रभावित किया है. बिगड़े मौसम के चलते गुरुवार को यहां स्कूलों में अवकाश के बाद शुक्रवार को भी जिला कलेक्टर अशंदीप ने स्कूलों में छुट्‌टी की घोषणा की गई है.



पानी भराव की समस्या ने किया परेशान
बाड़मेर में बारिश के बाद शहर की सड़कें पानी से लबालब हो गई हैं. बेमौसम बारिश से किसानों के खेतों में पड़ी खरीफ की फसल को भी भारी नुकसान पहुंचा है. तेज बारिश से सड़कें पानी से लबालब हो गई हैं. इसके कारण वाहन चालकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. शहर के निचले इलाके की कई कॉलोनियां जलमग्न हो गई हैं. आसपास के खेतों में भी पानी भर गया है.





जालोर में भी बारिश, फसलों को नुकसान



जालोर के जिले के ग्रामीण इलाकों में लगातार हो रही ओलावष्टि से जनजीवन पूरी तरह अस्त व्यस्त हो गया है. यहां बुधवार देर रात तक कई स्थानों पर बारिश का दौर चलता रहा. जालोर के चितलवाना और बागोड़ा क्षेत्र में तेज हवाओं के साथ बारिश हुई. ओलावृष्टि से अरंडी की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है. मौसम में बदलाव के बाद शीतलहर चलने से मौसम में ठंडक बढ़ गई है.



ये भी पढ़ें-



नेहरू ने देश में कई उपलब्धियों वाले काम किए लेकिन मोदी गुमराह कर रहे-CM गहलोत



बांसवाड़ा में पटवारी वर्षा पाटीदार को 8000 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा



 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज