होम /न्यूज /राजस्थान /

Unique Couple: पत्नी कांस्टेबल, पति ड्रग्स तस्कर, स्नैक कैचर बनकर पुलिस को बना रहा था बेवकूफ

Unique Couple: पत्नी कांस्टेबल, पति ड्रग्स तस्कर, स्नैक कैचर बनकर पुलिस को बना रहा था बेवकूफ

आत्मरक्षा शिविरों में बालक-बालिकाओं को कराटे और वुशु के गुर सिखाने का भी कार्य करता था.

आत्मरक्षा शिविरों में बालक-बालिकाओं को कराटे और वुशु के गुर सिखाने का भी कार्य करता था.

Barmer crime news: बाड़मेर में ड्रग्स तस्करी (Drugs Smuggling) का एक अनोखा मामला सामने आया है. यहां पुलिस ने एक स्नैक कैचर (Snack Catcher) को ड्रग्स तस्करी के आरोप में पकड़ा है. उससे अफीम का डेढ़ किलो दूध बरामद किया गया है. हैरत की बात यह कि तस्कर की पत्नी मध्य प्रदेश पुलिस में कांस्टेबल (Constable) है. तस्कर उदयपुर का रहने वाला है. उसकी बाड़मेर पुलिस और प्रशासन में गहरी पैठ है.

अधिक पढ़ें ...

बाड़मेर. भारत-पाकिस्तान की सरहद स्थित बाड़मेर (Barmer) जिले में पिछले 4 बरसों से सांप पकड़ने का कार्य कर रहे एक युवक को कोतवाली थाना पुलिस ने डेढ़ किलो अफीम के दूध के साथ गिरफ्तार किया है. दीपक सेन नाम का यह युवक अपने आपको नागमित्र और कोबरामैन बताकर पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों से अच्छे संबंध बनाए हुए था. सांप पकड़ने (Snack Catcher) के बहाने वह लंबे समय से बाड़मेर में ड्रग्स की सप्लाई भी करता रहा है. पुलिस को जब कोबरामैन दीपक की असलियत की भनक लगी तो वह इसकी जांच पड़ताल में जुटी और उसे धरदबोचा. दीपक की पत्नी मध्यप्रदेश पुलिस में कांस्टेबल के पद पर तैनात है.

शहर कोतवाल उगमराज सोनी ने बताया कि दीपक सेन नाम के एक युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. उसके पास से डेढ़ किलो अफीम का दूध बरामद किया गया है. वह मूलतया उदयपुर का रहने वाला है. वह बाड़मेर में रहकर सांप पकड़ने का कार्य करता है. दीपक बाड़मेर में कोबरामैन के नाम से चर्चित है. दीपक सेन उदयपुर के मेवात से बाड़मेर जिले में ड्रग्स की सप्लाई करता था. पुलिस उससे पूछताछ करने में जुटी है.

कराटे और वुशु के गुर सिखाता है
बताया जा रहा है कि आरोपी दीपक सेन की पत्नी मध्यप्रदेश के नीमच में कांस्टेबल के पद पर कार्यरत है. कोबरामैन दीपक सेन पिछले तीन-चार वर्षों से बाड़मेर में ही रह रहा था. सांप पकड़ने के अलावा वह जिले के आला अधिकारियों के साथ भी खास पहचान बनाए हुये था. वह जिले में समय-समय पर आयोजित होने वाले आत्मरक्षा शिविरों में बालक-बालिकाओं को कराटे और वुशु के गुर सिखाने का भी कार्य करता था.

चार बरसों में किसी को भनक तक नहीं लगने दी
फिलहाल पुलिस दीपक सेन के बैकग्राउंड की जांच कर रही है. इसके साथ ही वह पता लगा रही है कि दीपक किन ड्रग्स सप्लायर्स से जुड़ा हुआ है. तस्करी के इस काम में उसके साथ कौन-कौन शामिल है. हैरत की बात यह है कि बीते चार बरसों में पुलिस और प्रशासन में किसी को भी इस बात की भनक नहीं लगी कि वह ड्रग्स तस्करी में लिप्त है.

Tags: Barmer news, Crime News, Rajasthan latest news, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर