Home /News /rajasthan /

world tallest sitting statue of lord mahaveer to be installed in barmer 152 feet high it will be visible from 20 km away rjsr

राजस्थान में स्थापित होगी भगवान महावीर की दुनिया की सबसे ऊंची बैठी प्रतिमा, 20 KM दूर से आएगी नजर!

अष्टधातु की इस मूर्ति का निर्माण शुरू हो चुका है.

अष्टधातु की इस मूर्ति का निर्माण शुरू हो चुका है.

बाड़मेर में स्थापित होगी भगवान महावीर की अष्टधातु की 152 फीट ऊंची मूर्ति: जैन धर्म का प्रमुख तीर्थ स्थल बन चुके बाड़मेर (Barmer) में एक और इतिहास रचा जा रहा है. यहां की कुशल वाटिका में भगवान महावीर की अष्टधातु की विश्व की सबसे ऊंची बैठी हुई प्रतिमा (World tallest sitting statue of Lord Mahaveer) की स्थापना की जा रही है. दावा किया जा रहा है कि यह मूर्ति 20 किलाेमीटर की दूरी से दिखाई देगी. इसकी ऊंचाई 152 फीट होगी.

अधिक पढ़ें ...

बाड़मेर. पश्चिमी राजस्थान का प्रमुख जैन तीर्थ स्थल बन चुके बाड़मेर (Barmer) की कुशल वाटिका अब नया इतिहास रचने जा रही है. बाड़मेर में भगवान महावीर की दुनिया की सबसे ऊंची बैठी प्रतिमा (World tallest sitting statue of Lord Mahaveer) स्थापित की जायेगी. इसकी ऊंचाई 152 फीट होगी. दावा किया जा रहा है कि 152 फीट ऊंची यह मूर्ति 20 किलोमीटर दूर से नजर आएगी. अष्टधातु की यह मूर्ति 5 मंजिला आधार पर लगाई जायेगी. कुशल वाटिका ट्रस्ट इस मूर्ति के निर्माण पर करोड़ों रुपये खर्च कर रहा है. इसका निर्माण कार्य बड़ी तेजी से चल रहा है.

भारत-पाकिस्तान की सरहद पर बसे राजस्थान के बाड़मेर में आने वाले दिनों में भगवान महावीर की विशाल मूर्ति की स्थापना की जायेगी. यहां कुशल वाटिका में जैन धर्म के चौबीसवें तीर्थंकर भगवान महावीर की मूर्ति की स्थापना की तैयारियां जोरों पर है. वर्ष 2013 से आम जनता में आस्था का पर्याय बन चुके इस पावन तीर्थ का निर्माण 150 बीघा जमीन पर किया गया है. अब यहां 5 मंजिल के आधार पर भगवान महावीर की भव्य मूर्ति का निर्माण किया जा रहा है.

अष्टधातु की मूर्ति का निर्माण शुरू हो चुका है
बाड़मेर की कुशल वाटिका में 152 फिट ऊंची इस मूर्ति का निर्माण इन दिनों युद्धस्तर पर जारी है. इस मंदिर की नींव रखने वाले आचार्य मणिप्रभ सागर के मुताबिक तीन मंजिला आधार निर्माण का कार्य अंतिम चरण में है. वहीं अष्टधातु की मूर्ति का निर्माण भी शुरू हो चुका है. स्थापना के बाद यह मूर्ति 20 किलोमीटर दूर से नजर आएगी. यह विश्व की सबसे ऊंची बैठी हुई प्रतिमा होगी. यह प्रतिमा अपने आप में अनूठी होगी.

राजस्थान के साथ ही गुजरात, छतीसगढ़ और मध्यप्रदेश से आते हैं श्रद्धालु
जैन समाज के लाखों लोगों की श्रद्धा और आस्था का स्थान कुशल वाटिका अपने नवग्रह मंदिर और दादा गुरुदेव मंदिर की वजह से काफी प्रसिद्ध है. भगवान महावीर की 152 फिट ऊंची इस मूर्ति की स्थापना के साथ ही यहां संग्रहालय, वाचनालय, जिनालय और दादाबाड़ी का निर्माण किया जा रहा है. वर्तमान में यहां गुजरात, राजस्थान, छतीसगढ़ और मध्यप्रदेश से जैन धर्म के लोग दर्शन के लिए वर्षभर आते रहते हैं. बाड़मेर आज जैन धर्म का बड़ा तीर्थ स्थल बन चुका है.

Tags: Barmer news, Rajasthan latest news, Rajasthan news, Religious Places

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर