Home /News /rajasthan /

भरतपुर: जानलेवा बनी ओलावृष्टि, फसल खराबे से तनाव में आए किसान ने लगाया फंदा

भरतपुर: जानलेवा बनी ओलावृष्टि, फसल खराबे से तनाव में आए किसान ने लगाया फंदा

उपटेला गांव निवासी 45 वर्षीय किसान सुरेश तनाव में चल रहा था.

उपटेला गांव निवासी 45 वर्षीय किसान सुरेश तनाव में चल रहा था.

भरतपुर जिले में पिछले दिनों जबर्दस्त ओलावृष्टि (Hailstorm) से खराब हुई फसल के कारण तनाव (Tension) में आए एक किसान ने फांसी का फंदा लगाकर अपनी जान (Suicide) दे दी. घटना की जानकारी मिलने के बाद चिकित्सा राज्यमंत्री सुभाष गर्ग (Minister of State Subhash Garg) मृतक किसान के घर पहुंचे.

अधिक पढ़ें ...
भरतपुर. जिले में पिछले दिनों जबर्दस्त ओलावृष्टि (Hailstorm) से खराब हुई फसल के कारण तनाव (Tension) में आए एक किसान ने फांसी का फंदा लगाकर अपनी जान (Suicide) दे दी. घटना की जानकारी मिलने के बाद चिकित्सा राज्यमंत्री सुभाष गर्ग (Minister of State Subhash Garg) मृतक किसान के घर पहुंचे. उन्होंने किसान के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए उसके परिजनों को सरकार से आर्थिक सहायता दिलाने का भरोसा दिलाया है. पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से शव का पोस्टमार्टम करवाकर उसे परिजनों को सौंप दिया है.

उपटेला गांव का रहने वाला था किसान
जानकारी के अनुसार फसल खराब होने से उपटेला गांव निवासी 45 वर्षीय किसान सुरेश तनाव में चल रहा था. वह परिजनों से बहकी बहकी बातें करता था. शनिवार रात को सुरेश खाना अपने कमरे में सोने के लिए चला गया था. रविवार को सुबह जब वह देर तक कमरे से बाहर नहीं आया तो परिजन वहां पहुंचे. वहां सुरेश फंदे पर झूलता हुआ मिला. यह देखकर परिजनों के होश उड़ गए. घटना की सूचना मिलने पर उद्योग नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को फंदे से उतरवाकर आरबीएम अस्पताल की मोर्चरी में पहुंचाया. वहां उसका मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया गया.

इससे पहले भी एक किसान ने की थी आत्महत्या
किसान की आत्महत्या की घटना के बाद उसके घर पर ग्रामीणों का जमावड़ा लग गया. इसकी जानकारी मिलने पर चिकित्सा राज्यमंत्री सुभाष गर्ग मृतक के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करने वहां पहुंचे. पिछले दिनों फुलवारा गांव में किसान गुलाब सिंह ने फसल ख़राबे के कारण तनाव में आकर फांसी लगा ली थी. वहीं शनिवार को हलैना क्षेत्र में अपनी फसल का खराबा देखकर एक किसान को हार्ट अटैक आ गया और उसने खेत में ही दम तोड़ दिया था.

किसानों की फसलें पूरी तरह से बर्बाद हो गई
उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों भरतपुर में जबर्दस्त ओलावृष्टि हुई थी. इससे किसानों की फसलें पूरी तरह से बर्बाद हो गई. ओलावृष्टि से हुए नुकसान का जायजा लेने के बाद पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह का कहना था कि भरतपुर लोकसभा क्षेत्र के 8 विधानसभा क्षेत्रों में 80 से 100% तक नुकसान हुआ है. उन्होंने किसानों को आश्वस्त किया था कि सरकार के स्तर पर उनकी पूरी मदद की जाएगी.



Corona: राजस्थान दिवस के सभी कार्यक्रम रद्द, आंगनबाड़ी केन्द्र 31 मार्च तक बंद



Coronavirus: ईरान से जैसलमेर लाए गए 234 भारतीय आर्मी के वेलनेस सेंटर में शिफ्ट

Tags: Bharatpur News, Farmer, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर