लाइव टीवी

दहशत में भरतपुर: नदबई में हिस्ट्रीशीटर को थाने के पास गोलियों से भूना, 2 दिन में 3 मर्डर
Bharatpur News in Hindi

Shiv Kumar Vashishth | News18 Rajasthan
Updated: January 13, 2020, 12:29 PM IST
दहशत में भरतपुर: नदबई में हिस्ट्रीशीटर को थाने के पास गोलियों से भूना, 2 दिन में 3 मर्डर
विजयपाल को प्राथमिक उपचार के बाद जिला मुख्यालय स्थित आरबीएम अस्पताल रेफर कर दिया गया. लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई.

मेवात इलाके का भरतपुर जिला (Bharatpur District) इन दिनों दहशत (Panic) में है. रविवार रात को भी नदबई थाने (Nadbai police station) से महज 200 मीटर की दूरी पर बदमाशों ने एक हिस्ट्रीशीटर पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर उसे मौत (Murder) की नींद सुला दिया और फरार हो गए.

  • Share this:
भरतपुर. मेवात इलाके का भरतपुर जिला (Bharatpur District) इन दिनों दहशत (Panic) में है. जिला पुलिस (Police) की लचर कार्यप्रणाली (Working) के चलते बदमाशों के हौंसले इस कदर बुलंद हो रहे हैं कि बीते 2 दिनों से अलग-अलग जगह 3 लोगों को गोलियों (Bullets) से भून दिया गया. रविवार रात को भी नदबई थाने (Nadbai police station) से महज 200 मीटर की दूरी पर बदमाशों ने एक हिस्ट्रीशीटर पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर उसे मौत (Murder) की नींद सुला दिया और फरार हो गए. अवैध हथियारों (Illegal weapons) के दम पर बेखौफ बदमाशों में गैंगवार (Gangwar) हो रही है और वे बात-बात पर गोलियां चल रहे हैं.

जिला अस्पताल पहुंचने से पहले ही रास्ते में तोड़ा दम
नदबई में रविवार रात को बदमाशों ने हिस्ट्रीशीटर विजयपाल सिंह पर नदबई में सरेराह ताबड़तोड़ फायरिंग की. इससे इलाके में अफरा-तफरी मच गई और लोग इधर-उधर भागने लगे. वारदात की सूचना पर नदबई थाना पुलिस ने मौके पर पहुंची और लहूलुहान विजयपाल को लेकर स्थानीय अस्पताल पहुंची. वहां से विजयपाल को प्राथमिक उपचार के बाद जिला मुख्यालय स्थित आरबीएम अस्पताल रेफर कर दिया गया. लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई. पुलिस ने मृतक के शव को मोर्चरी में रखवा दिया है, जहां उसका पोस्टमार्टम करवाया जाएगा.

20 दिन पहले ही जेल से छूटकर बाहर आया था

वारदात के बाद पुलिस ने बदमाशों की धरपकड़ शुरू की और तीन को अपनी हिरासत में ले लिया है. पुलिस उनसे पूछताछ करने में जुटी है. पुलिस के अनुसार विजयपाल सिंह नदबई थाना इलाके के माझी गांव का रहने वाला था. वह जयपुर पुलिस का हिस्ट्रीशीटर है. विजयपाल करीब 20 दिन पहले ही जेल से छूटकर बाहर आया था. उसके खिलाफ लूट और अवैध हथियार समेत डेढ़ दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं.

नगर और वैर कस्बों में दो लोगों की हत्या की जा चुकी है
उल्लेखनीय है कि जिले में 2 दिन पहले भी नगर और वैर कस्बों में दो लोगों की हत्याएं की जा चुकी हैं. इन दोनों मामलों के आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से दूर हैं. भरतपुर में बिगड़ रही कानून व्यवस्था से आम जनता में पुलिस के खिलाफ खासा आक्रोश व्याप्त हो रहा है और लोग खौफ के साए में जी रहे हैं. बदमाश कब, कहां और किसे गोली ठोक दे कुछ नहीं कहा जा सकता. 

जन्मदिन की पार्टी में विवाद, दोस्त ने दोस्त के घोंपा चाकू, अस्पताल में हुई मौत

खाने की बात पर हुआ झगड़ा, तैश में आए ससुर ने कुल्हाड़ी से पुत्रवधू को काट डाला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भरतपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2020, 12:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर