• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • भरतपुर: शराब के लिए बेटे ने माता-पिता को काट डाला था, कोर्ट ने दी उम्रकैद की सजा

भरतपुर: शराब के लिए बेटे ने माता-पिता को काट डाला था, कोर्ट ने दी उम्रकैद की सजा

प्रताप ने अपने पिता देवीराम पर दरांती से वारकर उसे मौत के घाट उतार दिया. मां जब बीच बचाव करने आई तो उसे भी मार डाला.

प्रताप ने अपने पिता देवीराम पर दरांती से वारकर उसे मौत के घाट उतार दिया. मां जब बीच बचाव करने आई तो उसे भी मार डाला.

शराब (Liqueur) के लिए रुपए नहीं देने पर अपने माता-पिता (Mother-father) की दरांती से काटकर हत्या (Murder) करने वाले बेटे (Son) को जिला एवं सेशन न्यायाधीश (District and Sessions Judge) शुभा मेहता ने आजीवन कठोर कारावास की सजा (life imprisonment) सुनाई है.

  • Share this:
भरतपुर. शराब (Liqueur) के लिए रुपए नहीं देने पर अपने माता-पिता (Mother-father) की दरांती से काटकर हत्या (Murder) करने वाले बेटे (Son) को जिला एवं सेशन न्यायाधीश (District and Sessions Judge)  शुभा मेहता ने आजीवन कठोर कारावास की सजा (Sentenced to life's rigorous imprisonment) सुनाई है. न्यायाधीश ने अभियुक्त 30 हजार रुपए का जुर्माना (Penalty) भी लगाया है. अभियुक्त को केंद्रीय कारागार सेवर भेजने के आदेश जारी किए गए हैं.

शराब पीने के लिए रुपए मांगे थे
लोक अभियोजक डोरीलाल बघेल ने बताया कि 9 महीने पहले 24 मार्च को उद्योग नगर थाना इलाके के गांव रारह में देवीराम अपनी गाय को 15 हजार रुपए में बेचकर आया था. गाय की बिक्री से आए रुपयों को उसके बेटे प्रताप ने शराब पीने के लिए मांगे. लेकिन देवीराम ने शराब के लिए पैसे देने से इंकार कर दिया. इससे गुस्साए बेटे प्रताप ने अपने पिता देवीराम पर दरांती से प्रहार कर उसे मौत के घाट उतार दिया.

मां बचाने आई तो उसे भी मार डाला
इसी दरिम्यान अपने पति को बचाने के लिए आई रामवीरी पर भी प्रताप ने दरांती से हमला कर दिया, जिससे उसकी भी मौत हो गई. वारदात के बाद आरोपी प्रताप मौके से फरार हो गया था. दोहरे हत्याकांड की जानकारी मिलते ही उद्योग नगर थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर हालात का जायजा लिया. इस संबंध में मामला दर्ज होने के बाद आरोपी प्रताप को गिरफ्तार कर लिया. प्रताप आदतन शराबी है. बाद में पुलिस ने अपनी जांच पूरी कर आरोपी के खिलाफ कोर्ट में चालान पेश कर दिया.

कोर्ट में 43 दस्तावेज और 14 गवाह प्रस्तुत किए गए
सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष की ओर से आरोपी के खिलाफ 43 दस्तावेज और 14 गवाह प्रस्तुत किए गए. कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद उपलब्ध साक्ष्यों और गवाहों के बयान के आधार पर प्रताप को दोहरे हत्याकांड का दोषी करार दिया. न्यायाधीश शुभा मेहता ने अभियुक्त प्रताप को आजीवन कठोर कारावास की सजा के साथ ही उस पर 30 हजार रुपए का अर्थदंड भी लगाया है.

जयपुर: मासूम से रेप कर हत्या करने वाले रेपिस्ट को कोर्ट ने दिया मृत्युदंड

अजमेर: नाबालिग बच्चे का किया था यौन शोषण, कुकर्मी को 10 साल के लिए जेल भेजा

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज