बदमाशों ने बल्लभाचार्य और उनके साथियों को लूटा

भरतपुर जिले में बदमाशों ने बल्लभ संप्रदाय की पंचम पीठ के पीठाधीश बल्लभाचार्य और उनके साथियों को लूट लिया. बल्ल्भाचार्य ने कहा कि जब तक घटना का खुलासा व मूर्ति बरामद नहीं हो जाती तब तक मंदिर के कपाट व दर्शन बंद रहेंगे.

News18 Rajasthan
Updated: April 17, 2018, 4:18 PM IST
बदमाशों ने बल्लभाचार्य और उनके साथियों को लूटा
पीठाधीश बल्लभाचार्य घटना की जानकारी साझा करते
News18 Rajasthan
Updated: April 17, 2018, 4:18 PM IST
भरतपुर जिले के मेवात क्षेत्र में सोमवार की रात बदमाशों ने बल्लभ संप्रदाय की पंचम पीठ के पीठाधीश बल्लभाचार्य एवं उनके दो साथियों को लूट लिया. कार में सवार सशस्त्र बदमाशों ने बल्लभाचार्य की कार के अलावा 2.5 लाख रुपए नकद व मोबाइल लूट लिए. इसके साथ ही ठाकुरजी की वह बेशकीमती मूर्ति भी लूट ले गए जिसे बल्लभाचार्य हमेशा अपने साथ लेकर चलते थे. देर रात को कामा-जुरहरा मार्ग पर गांव गुरीरा के निकट कार सवार 5 हथियारबंद बदमाशों ने मारपीट कर सभी को बंधक बना लिया और जमकर मारपीट और लूटपाट कर गाड़ी लेकर फरार हो गए.

बल्लभाचार्य महाराज व उनके निजी सहायक दीपक भाई व चालक राधाचरण देर रात करीब दो बजे दिल्ली से वाया जुरहरा कामां लौट रहे थे. तभी गुरीरा गांव के निकट पीछे से आई एक कार पर सवार लोगों ने उन्हें रोक लिया और गाड़ी का शीशा तोड़कर बल्लभाचार्य को बाहर निकाल लिया. बदमाशों ने ड्राइवर के साथ जमकर मारपीट भी की . बदमाश महाप्रभु जी की दुर्लभ मूर्ति, सोने की अंगूठियां, सोने की चेन, 4 मोबाइल व गाड़ी लेकर फरार हो गए.

घटना की जानकारी मिलते ही डीग के एडिशनल एसपी सुरेंद्र सिंह कविया मौके पर पहुंचे और बदमाशों की धरपकड़ के लिए जगह-जगह नाकाबंदी करवाई.घटना के विरोध में आक्रोशित व्यापार महासंघ के लोग व कस्बेवासी एकत्रित होकर मंदिर चन्द्रमाजी पहुंचे जहां बल्लभाचार्य महाराज के सानिध्य में गणमान्य लोगों की बैठक का आयोजन हुआ. बैठक में कस्बेवासियों ने घटना को आस्था पर चोट बताते हुए आक्रोश व्यक्त किया व व्यापारियों ने बाजार बंद करने के लिए भी कहा लेकिन बल्लभाचार्य महाराज ने व्यापारियों की बाजार बंद की मांग को सिरे से नकार दिया.

बल्ल्भाचार्य ने कहा कि घटना के खुलासे व लूटी हुई मूर्ति की बरामदगी तक हम शांतिपूर्वक विरोध जताएंगे जब तक घटना का खुलासा व मूर्ति बरामद नहीं हो जाती तब तक मंदिर के कपाट व दर्शन बंद रहेंगे.

(रिपोर्ट- दीपक लवानिया )
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Rajasthan News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर