• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Bharatpur News: लव मैरिज के 8 साल बाद दंपति ने जहर खाकर की खुदकुशी, 7 साल की बेटी बची अकेली

Bharatpur News: लव मैरिज के 8 साल बाद दंपति ने जहर खाकर की खुदकुशी, 7 साल की बेटी बची अकेली

दोनों की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की परिजनों ने पुलिस को सूचना नहीं दी. इससे पुलिस का शक गहरा गया है.

दोनों की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की परिजनों ने पुलिस को सूचना नहीं दी. इससे पुलिस का शक गहरा गया है.

Married Couple Suicide Case: भरतपुर में एक दंपति ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली. दोनों ने आठ साल पहले लव मैरिज की थी. प्रारंभिक जांच में आत्महत्या के पीछे वजह गृह क्लेश बताई जा रही है. पुलिस मासूम बच्ची से पूछताछ कर मामले की कड़ी से कड़ी जोड़ने की कोशिश करेगी.

  • Share this:
    रिपोर्ट -दीपक पुरी

    भरतपुर. शहर के नदिया मोहल्ला में एक दंपति ने लव मैरिज (Love marriage) के आठ साल बाद जहर खाकर आत्महत्या (Suicide) कर ली. हालांकि अभी तक आत्महत्या के कारणों का साफ तौर पर खुलासा नहीं हो पाया है, लेकिन पुलिस की प्रारंभिक जांच में इसके पीछे गृहक्लेश बताया जा रहा है. पति-पत्नी के बीच एक दिन पहले झगड़ा हुआ था. उसके बाद दोनों ने यह कदम उठाया. दंपति के सात साल की पुत्री है. दोनों के झगड़े के दौरान वह मौके पर मौजूद बताई जा रही है. पुलिस अब इस मासूम बच्ची से पूछताछ कर मामले की कड़ी से कड़ी जोड़ने की कोशिश करेगी. पुलिस सभी पहलुओं से मामले की जांच कर रही है.

    पुलिस के अनुसार आत्महत्या करने वाले दंपति दीपक और उसकी पत्नी निशु घर पर अकेले रहते थे. दोनों ने आठ साल पहले लव मैरिज की थी. दीपक के पिता गोविन्द प्रकाश और मां मथुरा में रहती हैं. पुलिस की प्रारंभिक जांच में सामने आया कि मंगलवार रात को दीपक और उसकी पत्नी निशु के बीच झगड़ा हो गया था. उसके बाद दोनों ने जहर खा लिया.

    साले को दी जहर खा लेने की खबर
    जहर खाने के बाद दीपक ने अपने साले को फोन कर बताया कि उसने और निशु ने जहर खा लिया है. इस पर दीपक का साला उनके घर पहुंचा. वह दोनों को भरतपुर के आरबीएम अस्पताल ले गया. वहां डॉक्टर्स ने दीपक को मृत घोषित कर दिया, जबकि निशु की गंभीर हालत को देखते हुये उसे जयपुर रेफर कर दिया. लेकिन वहां निशु की भी मौत हो गई.

    परिजनों ने पुलिस को नहीं दी सूचना, शक गहराया
    दोनों की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की परिजनों ने पुलिस को सूचना नहीं दी. लेकिन घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और हालात का जायजा लिया. वहीं इस पूरे मामले में आरबीएम अस्पताल की भी एक बड़ी लापरवाही सामने आई. अस्पताल प्रशासन ने दीपक की मौत बाद उसके शव को बिना पोस्टमार्टम के ही परिजनों को सौंप दिया, जबकि यह एक पुलिस केस था. पुलिस का कहना है कि अभी आत्महत्या के कारणों का पूरी तरह से खुलासा नहीं हो पाया है. मृतक दंपति की बेटी से पूछताछ की जाएगी. वह शायद आत्महत्या की इस गुत्थी को सुलझाने में पुलिस की मदद करेगी. दीपक की टायर की दुकान थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज