भरतपुर के इस किसान ने उगाया ऐसा गाजर कि देखने वाालों की उमड़ पड़ती है भीड़

गाजर की खास बात यह है कि इसकी लंबाई करीब 2 फीट तक है.

गाजर की खास बात यह है कि इसकी लंबाई करीब 2 फीट तक है.

राजस्थान में भरतपुर (Bharatpur) के कामां क्षेत्र के इंदौली गांव में एक किसान (Farmer) ने पहली बार अपने खेत में गाजर (Carrot) की खेती की है. इस इलाके के किसानों की मेहनत ऐसी रंग लाई है कि उसकी खेत में पैदा होने वाली गाजर को खरीदने आसपास के इलाकों से लोग आ रहे हैं.

  • Share this:

भरतपुर. राजस्थान में भरतपुर (Bharatpur) के कामां क्षेत्र के इंदौली गांव में एक किसान (Farmer) ने पहली बार अपने खेत में गाजर (Carrot) की खेती की है. इस इलाके के किसानों की मेहनत ऐसी रंग लाई है कि उसकी खेत में पैदा होने वाली गाजर को खरीदने आसपास के इलाकों से लोग आ रहे हैं. किसान के खेत में पैदा हुई गाजर मंडी में बिकने के लिए पहुंचती नहीं है कि खरीददारों की भीड़ लग जाती है. यहां के गाजर की खास बात यह है कि इसकी लंबाई करीब 2 फीट तक है. आपको बता दें कि कामां इलाके में एक किसान कई सालों से आर्थिक तंगी से जूझ रहा था और काफी मेहनत के बाद भी उसकी मेहनत रंग नहीं ला रही थी. किसान को प्रत्येक सीजन में ज्यादा पैदावार नहीं होने के कारण उसे नुकसान झेलना पड़ रहा था. लेकिन, इस बार किसान की मेहनत ऐसी रंग लाई कि उसके खेत में गाजर की बंपर पैदावार हुई है और उसकी काफी डिमांड है.

अबतक करीब एक लाख रुपये का कमा चुके हैं मुनाफा

किसान उदय राम सैनी ने अपने एक बीघा खेत में गाजर की फसल बोई थी, लेकिन उसे हर बार की तरह उम्मीद थी कि पहले की तरह उसकी फसल उसे ज्यादा मुनाफा नहीं देकर जाएगी. फसल को काटने का समय जब आया तो हर कोई यह देखकर दंग रह गया, क्योंकि उदयराम सैनी के खेत में बोई हुई गाजर एक फुट से दो फुट तक लंबाई की पैदा हुई थीं. इसका स्वाद भी बहुत बेजोड़ है. कांमा के आसपास के इलाके में इतनी लंबी गाजर कभी पैदा नहीं हुई थी.

Carrot
उदयराम सैनी के खेत में बोई हुई गाजर एक फुट से दो फुट तक लंबाई की पैदा हुई थीं. इसका स्वाद भी बहुत बेजोड़ है.

मंडी में पहुंचते ही उमड़ पड़ते हैं खरीददार

वहीं, किसान उदय राम सैनी की गाजर जब मंडी में बिकने के लिए जाती है को खरीददारों की लाईन लग जाती है.  इस फसल से उदय सिंह को अब तक 1 लाख रुपए का मुनाफा हो चुका है. किसान उदय राम सैनी का कहना है कि वह जब भी फसल बोता था तो कभी फसल होती थी, कभी नहीं होती थी. उन्होंने बताया कि उसने पहली बार गाजर की खेती की है और बंपर पैदावार हुई है.

उदय ने बताया कि जब भी यह गाजर कामां की मंडी में बिकने के लिए जाती है तो रिक्शे में से उतरने से पहले ही खरीददार कांटे लगाकर खड़े हो जाते हैं. उन्होंने बताया कि गाजर की फसल से अब तक उन्हें 1 लाख रुपए का मुनाफा हो चुका है और अभी भी फसल की कटाई जारी है. वहीं दो—दो फीट लंबे गाजर को देखने के लिए लोग पहुंच रहे हैं.



यह भी पढ़ें:  वैध शराब की रि-पैकजिंग फैक्ट्री का भंडाफोड, वाइन समेत दो गिरफ्तार

ATM लूटने आए बदमाशों ने तानी रिवॉल्वर तो मकान मालिक ने पत्थर मारकर खदेड़ा

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज