Home /News /rajasthan /

21 सजी धजी बैलगाड़ियों पर सवार होकर रिश्तेदारों के साथ बहन के घर मायरा भरने पहुंचे 4 भाई

21 सजी धजी बैलगाड़ियों पर सवार होकर रिश्तेदारों के साथ बहन के घर मायरा भरने पहुंचे 4 भाई

Bhilwara News  मेवाड़ इलाके के भीलवाड़ा में एक परिवार ने अनूठे अंदाज में भरा मायरा

Bhilwara News मेवाड़ इलाके के भीलवाड़ा में एक परिवार ने अनूठे अंदाज में भरा मायरा

Mayra tradition of rajasthan: राजस्थान के भीलवाड़ा जिले में चार भाइयों ने मायरे की रस्म को यादगार बना दिया. ये 4 भाई अपनी बहन के बेटे की शादी में मायरा भरने गये तो पूरे रास्ते आकर्षण का केन्द्र बने रहे. ये भाई मायरा भरने के लिये अपने रिश्तेदारों और ग्रामीणों के साथ 42 सजे धजे बैलों से जुती हुई 21 बैलगाड़ियों पर सवार होकर बहन की ससुराल पहुंचे.

अधिक पढ़ें ...

    मनीष दाधीच.

    भीलवाड़ा. राजस्थान में शादियों में बहन के यहां मायरा (Mayra) भरना एक बड़ा उत्सव है. इसे यादगार बनाने के लिये लोग बेहताशा खर्चा भी करते हैं. बड़े-बड़े और महंगे उपहारों के साथ बहन को नगदी तथा आभूषण भेंट करते हैं. इसके लिये आजकल बाकायदा पीहर पक्ष के लोग लग्जरी कारों और अन्य वाहनों का कारवां लेकर पहुंचते हैं. लेकिन इससे इतर मेवाड़ इलाके के भीलवाड़ा जिले में एक परिवार ने अनूठा और सकारात्मक उदाहरण पेश किया है. इस परिवार चार भाइयों ने आधुनिक चकाचौंध से दूर रहकर परंपरागत तरीके से मायरा भरा है. इसके लिये ये 42 सजे धजे बैलों से जुती हुई 21 बैलगाड़ियों (Bullock carts) से बहन के यहां मायरा भरने पहुंचे. यह मायरा सोशल मीडिया में छाया हुआ है.

    मामला भीलवाड़ा जिले के चावंडिया गांव से जुड़ा है. त्याग और बलिदान की इस धरा के लोगों ने परंपरागत तरीके से मायरा भरकर एक बार फिर से पुरानी परंपरा को जीवंत कर दिया. चावंडिया गांव निवासी भैंरूलाल गुर्जर, दुर्गेश गुर्जर और कार्तिक गुर्जर मंगलवार को अपनी बहन की बच्चे की शादी में मायरा भरने के लिये गये थे. लेकिन इस दौरान उन्होंने लग्जरी और अन्य वाहनों के काफिले से दूरी बनाये रखी और बैलगाड़ियां लेकर बहन के घर गये.

    Rajasthan: भांजे का मायरा भरने के लिये 2 बोरों में रुपये भरकर पहुंचे 3 मामा, नोट गिनने में लगे कई घंटे

    बैलों के गले में बांधे गये घुंघरू, बजाया गया डीजे
    ये चार भाई 42 सजे धजे बैलों से जुती हुई 21 बैलगाड़ियां पर अपने रिश्तेदारों के साथ सवार होकर बहन के घर मायरा भरने उसकी ससुराल नाथजी का खेड़ा पहुंचे. इसके लिये बैलों के गले में घुंघरू बांधे गये. मसक बाजे और डीजे की धुन पर नाचते गाते ये भाई परिवार, रिश्तेदार और ग्रामीणों के साथ मायरा भरने नाथजी का खेड़ा पहुंचे. बहन की ससुराल पहुंचने पर सभी का तिलक लगाकर स्वागत सत्कार किया गया. इस दौरान रास्ते में जिस किसी ने भी इस काफिले को देखा तो वह उसके साथ सेल्फी लिये बिना नहीं रह सका. लोगों ने एक साथ इतनी बैलगाड़ियां देखकर हैरानी जताई.

    mayra news, unique mayra of bhilwara, bhilwara news, bhilwara latest news, bhilwara hindi news, mayra tradition, mayra tradition of rajasthan, mayra hindi news, unique mayra, bhilwara today news, rajasthan hindi news

    राजस्थान के भीलवाड़ा में मायरा भरने बैलगाड़ियों से जाते ग्रामीण.

    Rajasthan: पुलिसकर्मियों ने थाने के कुक के बेटे-बेटी की शादी में भरा 5.21 लाख रुपये का मायरा

    घर में गाड़ियां होने के बावजूद बैलगाड़ियों से गये
    चावंडिया के इन गुर्जर भाइयों का कहना है कि उन्होंने समाज को एक संदेश भी देने की कोशिश की है. उनका कहना था कि आजकल जिस तरह से शादियों में बेतहाशा फिजूलखर्ची की जाती हैं उस पर रोक लगाने के लिए हमने यह प्रयास किया है. घर में गाड़ियां होने के बावजूद गुर्जर भाइयों ने बैलगाड़ियों से ही अपनी बहन के घर जाकर मायरा भरने का फैसला किया ताकि समाज को नया संदेश दे सकें.

    गहलोत के मंत्री राजेंद्र गुढ़ा इंजीनियर से बोले- सड़क कैटरीना कैफ के गालों जैसी बननी चाहिए

    समाज को दिया नया और सकारात्मक संदेश
    समाज को संदेश देते हुए इस परिवार ने बता दिया कि आपसी होड़ में कई बार गरीब आदमी बेवजह कर्ज में डूब जाता है. लेकिन परंपरागत तरीकों से अगर चला जाए तो आदमी कर्ज में नहीं डूबेगा. वहीं सकारात्मक सोच के साथ किया गया कार्य कहीं न कहीं समाज में नया और सार्थक संदेश भी देकर जाता है. ब्याह शादी में परंपरागत साधनों का उपयोग करने से पर्यावरण को भी प्रदूषण से बचाया जा सकता है. बैलगाड़ियों से जाने वाले भाइयों ने उम्मीद जताई कि लोग उनके संदेश को समझने का प्रयास करेंगे.

    Tags: Marriage news, Rajasthan latest news, Rajasthan news in hindi, Rajasthan News Update

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर