हेड कांस्टेबल की हत्या के बाद जहाजपुर में पसरा मातम, नहीं जले चूल्हे, 50 लाख रुपए मुआवजे की मांग

राजसमंद जिले के भीम थाना इलाके में शनिवार को हुई हेड कांस्टेबल अब्दुल गनी उर्फ मुन्ना की हत्या के बाद उनके पैतृक गांव जहाजपुर में मातम पसरा हुआ है. वारदात के बाद गांव में घरों में चूल्हे नहीं जले हैं.

News18 Rajasthan
Updated: July 14, 2019, 12:16 PM IST
हेड कांस्टेबल की हत्या के बाद जहाजपुर में पसरा मातम, नहीं जले चूल्हे, 50 लाख रुपए मुआवजे की मांग
जहाजपुर में हेड कांस्टेबल के घर के बाहर बैठे गमगीन परिजन और अन्य लोग।फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
News18 Rajasthan
Updated: July 14, 2019, 12:16 PM IST
राजसमंद जिले के भीम थाना इलाके में शनिवार को हुई हेड कांस्टेबल अब्दुल गनी उर्फ मुन्ना की हत्या के बाद उनके पैतृक गांव जहाजपुर में मातम पसरा हुआ है. वारदात के बाद गांव में घरों में चूल्हे नहीं जले हैं. राजसमंद से सटे भीलवाड़ा जिले में स्थित हेड कांस्टेबल के गांव जहाजपुर में गमगीन ग्रामीण अब अपने लाडले मुन्ना के पार्थिव देह का इंतजार कर रहे हैं.

पुलिस-प्रशासन बनाए हुए है हालात पर नजर


हत्या को लेकर गांव के मुस्लिम समाज में आक्रोश भी व्याप्त है. वहीं हेड कांस्टेबल के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है. अंजुमन कमेटी के सदर नजीर मोहम्मद सरवाड़ी ने कहा कि जब तक राज्य सरकार मृतक के परिजनों को 50 लाख रुपए मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को नौकरी नहीं देगी तब तक मुन्ना की देह को सुपुर्द-ए-खाक नहीं किया जाएगा. मुस्लिम समाज की इस मांग के बाद पुलिस-प्रशासन भी सतर्क हो गया है और हालात पर नजर बनाए हुए है.

पार्थिव देह परिजनों के सुपुर्द की

दूसरी तरफ रविवार को सुबह भीम के सरकारी अस्पताल में तमाम सरकारी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद मृतक हेड कांस्टेबल की पार्थिव देह परिजनों के सुपुर्द कर दी गई. परिजन उसे लेकर भीलवाड़ा के लिए रवाना हो गए हैं. जहाजपुर में पार्थिव देह को हेड कांस्टेबल की बड़े भाई के घर लाया जाएगा. वहां बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद हैं.

जनवरी-फरवरी में होंगे पंचायत चुनाव, आयोग ने जारी किए आदेश 

हेड कांस्टेबल की पीट-पीटकर हत्‍या, सात आरोपियों की हुई पहचान
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...