सपनों की उड़ान: लोगों के घरों में झाडू-पोछा करने वाली महिला की बेटी बनना चाहती है अधिकारी, जानिए पूरी कहानी

 भीलवाड़ा की 11वीं की छात्रा बनना चाहती है अधिकारी.
भीलवाड़ा की 11वीं की छात्रा बनना चाहती है अधिकारी.

 मां लोगों के घरों में झाडू पोछा करती है, लेकिन 12वीं की छात्रा संतोष मेघवंशी (Santosh Meghvanshi) का सपना प्रशासनिक सेवा में जाने का है और वो उसके लिए जी जान से मेहनत कर रही है.

  • Share this:
भीलवाड़ा. हाल ही राजस्‍थान बोर्ड का रिजल्‍ट (Rajasthan Board Result) जारी किया है, लेकिन हम यहां 11वीं की परीक्षा में 72 प्रतिशत नंबर लाने वाली एक लड़की की बात कर रहे हैं, जिसकी मां लोगों के घरों में झाडू पोछा करती है. हालांकि संतोष मेघवंशी (Santosh Meghvanshi) का सपना प्रशासनिक सेवा (Administrative Services) में जाने का है और वो उसके लिए जी जान से मेहनत कर रही है. यही नहीं, उसे पढ़ाने में मनीषा जाजू का खास योगदान है, जिसके यहां संतोष की मां झाडू पोछा करती है. दरअसल, महिला ने संतोष मेघवंशी की पढ़ाई के प्रति लगन देखकर उसे पढ़ाने का जिम्‍मा उठाने का फैसला किया है.

जानिए पूरी कहानी
भीलवाड़ा के बैरवा मौहल्‍ले की संतोष मेघवंशी की मां पार्वती घर-घर झाडू-पौछे का काम करती है. जबकि संतोष भी अपनी मां का इस काम में हाथ तो बटाती है, लेकिन उसका सपना प्रशासनिक अधिकारी बनने का है. जबकि पिछले 10 वर्षों से संतोष की सहयोगी और प्ररेणा बनी हुई हैं, उसकी मालिकन मनीषा जाजू. यही नहीं, जब संतोष मेघवंशी का उसके पिता बाल विवाह करवाने पर उतारू हुए तो एक बार फिर मनीषा जाजू आगे आईं और उसका बाल विवाह रुकवाने में पूरी मदद की.

आपको बता दें कि संतोष ने 11वीं की परीक्षा 72 प्रतिशत अंकों के साथ पास की है. वहीं, पिछले वर्ष 10वीं की बोर्ड परीक्षा में भी उसने 75 प्रतिशत अंक हासिल किए थे. हालांकि दुख की बात ये है कि उसे पिता ने दूसरा विवाह कर रखा है, तो भाई को नशे की लत है. जबकि संतोष की मां के ऊपर अपनी चार बेटियों की जिम्‍मेदारी है, लेकिन घर-घर झाडू-पौछा करके वह किसी तरह बस पेट पाल रही हैं.
मकान मालिकन से पहचानी प्रतिभा


बेशक संतोष की मां के पास बच्‍चों को पढ़ाने के लिए पैसे नहीं हैं, लेकिन उनकी मकान मालकिन मनीषा जाजू ने उसके सपने पूरे करने की हिम्‍मत दी है. जबकि संतोष की मां पार्वती कहती हैं कि मेरी बेटी मेहनत करके अपने दूसरी मां (मनीषा जाजू) का सपना जरूर पूरा करेगी. यकीनन, भीलवाड़ा की मनीषा जाजू ने प्रतिभा को तलाश कर तराशने का काम कर दिखाया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज