भीलवाड़ा: बांगड़ हॉस्पिटल की तीसरी मंजिल पर लगी आग, दूसरे अस्पताल शिफ्ट किए गए मरीज

कुछ देर के बाद आग पर काबू पाया गया. सांकेतिक फोटो.
कुछ देर के बाद आग पर काबू पाया गया. सांकेतिक फोटो.

राजस्थान (Rajasthan) के भीलवाड़ा (Bhilwara) के बृजेश बांगड़ मेमोरियल हॉस्पिटल की तीसरी मंजिल पर अचानक धुआं उठने से वहां भर्ती मरीजों और उनके परिजनों में अफरा तफरी मच गई.

  • Share this:
भीलवाड़ा. राजस्थान (Rajasthan) के भीलवाड़ा (Bhilwara) के बृजेश बांगड़ मेमोरियल हॉस्पिटल की तीसरी मंजिल पर अचानक धुआं उठने से वहां भर्ती मरीजों और उनके परिजनों में अफरा तफरी मच गई. इन मरीजों में सहाड़ा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश भारद्वाज के भाई भी शामिल थे, जिन्होंने अपने भाई अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को सूचना दी और इस सूचना से पुलिस तुरंत हरकत में आई. इसके बाद सुभाष नगर थाना अधिकारी  पुष्पा कासोटिया तुरंत अस्पताल पहुंची और धुआं भरे माहौल में तीसरी मंजिल पर पहुंचकर सारे कांच तोड़ दिए, जिससे मरीजों को दम घुटने से अनहोनी से बचाया जा सका.

अस्पताल की तीसरी मंजिल पर यह आग बिजली के शॉर्ट सर्किट से लगी थी और कुछ ही मिनटों में धुएं ने पूरे अस्पताल को घेर लिया था. आनन-फानन में इस अस्पताल के आईसीयू और अन्य वार्डों में भर्ती 35 गंभीर मरीजों को तुरंत बाहर निकाल कर शहर के अन्य दो निजी अस्पताल कृष्णा और राम स्नेह हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया. नगर परिषद की तीन दमकल और अन्य उद्योग समूह की दमकल की गाड़ियों ने आग पर काबू पाया.

घटना स्थल पर पहुंचे आला अधिकारी
आग की सूचना मिलते ही एसपी प्रीति चंद्रा और सीओ सिटी भंवर रणबीर सिंह तुरंत अस्पताल पहुंचे थे. जिला कलेक्टर शिवप्रसाद एम नकाते ने कहा कि अस्पताल में बिजली के शार्ट सर्किट के कारण आग लगी, जिस पर पूरी तरह से काबू पा लिया गया धुएं के कारण  मरीजों को अन्य अस्पताल में शिफ्ट कर उनके इलाज की संपूर्ण व्यवस्था कर दी गई है. बांगड़ अस्पताल के डॉक्टर परमजीत सिंह ने कहा कि सुबह फायर अलार्म बजने पर हमने सर्वप्रथम सभी मरीजों को सुरक्षित बाहर निकाल कर अन्य अस्पतालों में शिफ्ट किया है, जिनमें से 7 मरीज तो वेंटिलेटर पर थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज