Home /News /rajasthan /

COVID-19: भीलवाड़ा में गाड़िया लोहार समाज ने मदद लेने की बजाय देने के लिए बढ़ाया हाथ

COVID-19: भीलवाड़ा में गाड़िया लोहार समाज ने मदद लेने की बजाय देने के लिए बढ़ाया हाथ

बस्‍ती के लोगों से तत्काल 51 हजार रुपए एकत्रित करके 
राहत सामग्री की कीमत समाजसेवी संगठन को देकर यह कहकर खरीद लिया कि वे इसे जरुरतमंदों में बांटेंगे.

बस्‍ती के लोगों से तत्काल 51 हजार रुपए एकत्रित करके राहत सामग्री की कीमत समाजसेवी संगठन को देकर यह कहकर खरीद लिया कि वे इसे जरुरतमंदों में बांटेंगे.

वीर शिरोमणी महाराणा प्रताप (Maharana Pratap) के संकट में साथी रहा गा‍ड़ोलिया लोहार समाज आज भी उसी शिद्दत के साथ देशहित में खड़ा हुआ है. इस समाज ने कोरोना संकट काल (Corona crisis) में मदद का हाथ बढ़ाकर एक बार फिर मिसाल कायम की है.

भीलवाड़ा. वीर शिरोमणी महाराणा प्रताप (Maharana Pratap) के संकट में साथी रहा गा‍ड़ोलिया लोहार समाज आज भी उसी शिद्दत के साथ देशहित में खड़ा हुआ है. सैंकड़ों बरस पहले लिए गए प्रण के मुताबिक स्थायी निवास के बजाय आज भी गाड़ी में अपना जीवन बसर करने वाले गाड़ोलिया लुहार समाज के लोगों ने कोरोना संकट काल (Corona crisis) में मदद का हाथ बढ़ाकर एक बार फिर मिसाल कायम की है.

लोग अपने सामर्थ्य के बाहर जाकर भी सहयोग के लिए आगे आ रहे हैं
दरअसल कोरोना संकट काल में हर कोई अपने क्षमता के मुताबिक सहयोग के लिए आगे आ रहा है. कई जगह लोग अपने सामर्थ्य के बाहर जाकर भी सहयोग के लिए आगे आ रहे हैं. ऐसा ही एक उदाहरण सामने आया है भीलवाड़ा जिले में. यहां जब समाजसेवी गाड़िया लोहारों की बस्ती में राहत सामग्री बांटने गए तो उन्होंने सहयोग लेने के बजाय देने के लिए आगे हाथ बढ़ाकर मिसाल कायम कर दी.

तत्काल 51 हजार रुपए एकत्र किए
दरअसल भीलवाड़ा में समाजसेवी संगठन हरिसेवा धाम के महंत हंसाराम के साथ बुधवार को शहर के ट्रांसपोर्ट नगर की गाड़ोलिया बस्‍ती में निशुल्‍क खाद्य सामग्री वितरण करने गये थे. वहां गाड़िया लोहार परिवारों ने इस खाद्य सामग्री को फ्री में लेने से इनकार कर दिया. यही नहीं उन्होंने अपने बस्‍ती के लोगों से तत्काल 51 हजार रुपए एकत्रित करके इस सामग्री की कीमत समाजसेवी संगठन को देकर यह कहकर खरीद लिया कि वे इसे जरुरतमंदों में बांटेंगे.

सभी के लिए अद्भुत उदाहरण है
गाडोलिया लोहार कालूलाल का कहना था कि हमारे पास खाना है. लेकिन आज देश संकट में है. इसकी कारण हमने यहां पर लाये 2 सौ पैकेट गरीबों को बांटने के लिए लिए हैं. यदि आगे भी जरूरत होगी तो हम अपनी ओर से और भी सामग्री प्रदान करेंगे. इस मौके पर हरिसेवा धाम के महंत हंसाराम ने कहा कि लोगों को इनसे प्रेरणा लेनी चाहिए. समाजसेवी चांदमल सोमाणी ने कहा कि हम इस बस्‍ती में भोजन सामग्री देने आये थे. लेकिन इन्‍होंने यह कहकर मना कर दिया कि हम मेहनत करके खाते हैं. उन्‍होंने हमारे से यह सामग्री खरीदकर गरीबों तक पहुंचाने के लिए कहा है. यह सभी के लिए अद्भुत उदाहरण है.

परीक्षाओं और सत्र में देरी होना तय! प्राध्यापक भर्ती परीक्षा को लेकर भी आशंका

Lockdown:महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु में फंसे राजस्थान के हजारों मजदूर

Tags: Bhilwara news, Corona, Lockdown, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर