Home /News /rajasthan /

COVID-19: प्लाज्मा थैरेपी के लिए तैयार है भीलवाड़ा, यहां 30 मरीज हो चुके हैं रिकवर

COVID-19: प्लाज्मा थैरेपी के लिए तैयार है भीलवाड़ा, यहां 30 मरीज हो चुके हैं रिकवर

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ी गई लड़ाई में भीलवाड़ा देशभर में रोल मॉडल बनकर उभरा है.

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ी गई लड़ाई में भीलवाड़ा देशभर में रोल मॉडल बनकर उभरा है.

कोरोना (COVID-19) के उपचार में जिस प्‍लाज्‍मा थैरेपी (Plasma therapy) को कारगर बताया जा रहा है, उसके लिए राजस्थान का भीलवाड़ा (Bhilwara) पूरी तरह से तैयार है. इसके लिए अस्‍पताल प्रशासन ने पूरी तैयारी करते हुए आवश्‍यक संसाधन जुटा लिए हैं.

अधिक पढ़ें ...
भीलवाड़ा. कोरोना (COVID-19) के उपचार में जिस प्‍लाज्‍मा थैरेपी (Plasma therapy) को कारगर बताया जा रहा है, उसके लिए राजस्थान का भीलवाड़ा (Bhilwara) पूरी तरह से तैयार है. इसके लिए अस्‍पताल प्रशासन ने पूरी तैयारी करते हुए आवश्‍यक संसाधन जुटा लिए हैं. भीलवाड़ा के 35 कोरोना संक्रमित मरीजों में से 30 रिकवर हो चुके हैं.

28 दिन बाद एक और सैम्पल लेकर जांच करवाई जाएगी
भीलवाड़ा के महात्‍मा गांधी चिकित्‍सालय के अधीक्षक डॉ. अरुण गौड़ ने बताया कि प्‍लाज्‍मा थैरेपी के लिए हमारे यहां से जितने भी पॉजीटिव मरीज संक्रमण मुक्‍त होकर गए हैं, 28 दिन बाद उनके एक और सैम्पल की जांच करवाई जाएगी. उसमें यदि वे संक्रमण मुक्‍त होते हैं, तो उनका रक्‍त लेकर प्‍लाज्‍मा को अलग किया जाएगा. यह प्‍लाज्‍मा वेंटिलेटर पर आए कोरोना मरीज को दिया जाता है.

प्‍लाज्‍मा शरीर के ऑक्‍सीजन लेवल को बढ़ाता है
भीलवाड़ा के राजकीय राजमाता विजयाराजे सिंधिया मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. राजन नन्‍दा का कहना है कि रक्‍त में मौजूद प्‍लाज्‍मा शरीर के ऑक्‍सीजन लेवल को बढ़ाता है. इससे हिमोग्‍लोबिन का स्‍तर भी बढ़ जाता है. इसके साथ ही संक्रमण मुक्‍त हुए व्‍यक्ति में इसके एंटीबॉडी भी होती है जो रोग से लड़ने की ताकत प्रदान करता है.

भीलवाड़ा देशभर में रोल मॉडल बनकर उभरा है
उल्लेखनीय है कि भीलवाड़ा राजस्थान में कोरोना का बड़ा हॉटस्पॉट रह चुका है. यहां अब तक 35 मरीज पॉजिटिव आ चुके हैं. इनमें 2 मरीजों की मौत हो चुकी है. वहीं 30 पूरी तरह से रिकवर हो गए हैं. कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ी गई लड़ाई में भीलवाड़ा देशभर में रोल मॉडल बनकर उभरा है. यहां कोरोना का पहला केस आते ही पूरे शहर को सील कर कर्फ्यू लगा दिया गया था. बाद में कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए 3 अप्रैल से 13 अप्रैल तक महा-कर्फ्यू लगाया गया था. केन्द्र सरकार भी भीलवाड़ा मॉडल की तारीफ कर चुकी है. वहीं अब इसकी चर्चा देश और विदेश में हो रही है.

क्या है प्‍लाज्‍मा थेरेपी? कैसे काम करती है ये तकनीक, दिल्ली में ठीक हुए चार मरीज

COVID-19: कोरोना से जंग में भीलवाड़ा देशभर में बन रहा 'नजीर'

Tags: Bhilwara news, Corona epidemic, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर