• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Mahant Narendra Giri Death: आनंद गिरि के पिता का दावा- परिवार को कभी नहीं दिए पैसे, आरोप गलत

Mahant Narendra Giri Death: आनंद गिरि के पिता का दावा- परिवार को कभी नहीं दिए पैसे, आरोप गलत

महंत नरेंद्र गिरि की मौत के बाद आनंद गिरि के पिता का बड़ा बयान.

महंत नरेंद्र गिरि की मौत के बाद आनंद गिरि के पिता का बड़ा बयान.

Narendra Giri Maharaj Death Case: अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri Case) की मौत के मामले में गिरफ्तार आनंद गिरि (Anand Giri) के पिता रामेश्वर लाल चोटिया का कहना है कि बेटे ने परिवार को कभी पैसै नहीं दिए।

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

भीलवाड़ा. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत (Mahant Narendra Giri Death) के मामले में कई खुलासे हो रहे हैं. महंत के शिष्य आनंद गिरि को गिरफ्तार किया गया है. आनंद गिरि (Anand Giri) की गिरफ्तार के बाद अब उनके पिता की ओर से बड़ा बयान दिया गया है. आनंनद गिरि के पिता रामेश्वर लाल चोटिया का कहना है कि बेटे ने कभी परिवार को पैसे नहीं दिए. परिवार की मदद का आरोप गलत है. पिता रामेश्वर लाल ने कहा, ’13 साल की उम्र में अशोक उर्फ आनंद गिरि साधु बन गया. उसके बाद परिवार से उसका कोई नाता नहीं रहा. परिवार तो अपनी मेहनत से पेट भर रहा है. चाहे तो जांच कर ले पुलिस.’ बता दें कि आनंद गिरि राजस्थान के भीलवाड़ा के आसिन तहसील में आने वाले ब्राह्मण की सरेरी गांव के मूल निवासी हैं.

मालूम हो कि अखिल भारतीय अखाड़ा ​परिषद के अध्यक्ष और श्रीपंचायती अखाड़े के महंत स्वामी नरेंद्र गिरि का सोमवार को संदिग्ध परिस्थितियों में निधन हो गया. उनका शव फंदे से लटका मिला था. अब मामले की जांच के लिए डीआईजी, प्रयागराज ने डिप्टी एसपी अजीत सिंह चौहान के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया है. मामले के विवेचक इंस्पेक्टर महेश को भी एसआईटी में शामिल किया गया है.

खुद को नरेंद्र गिरि का उत्तराधिकारी बताते थे आनंद गिरि

कहा जाता है कि आनंद गिरि गुरु नरेंद्र गिरि के करीब रहकर मठ और बड़े हनुमान मंदिर का काम देखते थे. साल 2014 में आनंद गिरि ने खुद को नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकारी के रूप में प्रचारित करना शुरू कर दिया तो उसका विरोध हुआ. तब नरेंद्र गिरि ने स्पष्ट किया था कि आनंद गिरि उनके उत्तराधिकारी नहीं, बल्कि शिष्य ही हैं. उन्होंने दीक्षा दी है, लेकिन उत्तराधिकारी किसी को नहीं बनाया है.

Mahant Narendra Giri,anand giri news, Narendra Giri maharaj death, Narendra Giri suicide, mahant Narendra Giri suicide note, rajasthan news, महंत नरेंद्र गिरि, आनंद गिरि

आनंद गिरि के पिता ने कहा,’13 साल की उम्र में अशोक उर्फ आनंद गिरि साधु बन गया. उसके बाद परिवार से उसका कोई नाता नहीं रहा.’

ये भी पढ़ें: Mahant Narendra Giri Case: जानिए आनंद गिरि का राजस्थान कनेक्शन, ऐसे बना साधु
अपने परिवार से संपर्क रखने तथा गुरु के खिलाफ साजिश करने के आरोप में आनंद गिरि को निरंजनी अखाड़ा ने 14 मई 2021 को निष्कासित कर दिया था. नरेंद्र गिरि ने उन्हें श्रीमठ बाघम्बरी गद्दी और बड़े हनुमान जी मंदिर की व्यवस्था से निष्कासित कर दिया था. फिर नरेंद्र गिरि के एक शिष्य के लखनऊ स्थित निवास में 26 मई को गुरु-शिष्य की मुलाकात हुई थी. इस दौरान आनंद गिरि ने गुरु नरेंद्र गिरि से माफी मांगी थी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज