Bhilwara News: गैस सिलेंडर से भरे ट्रक पर गिरी आकाशीय बिजली, धमाकों से थर्रा उठा इलाका

आग की लपटें इतनी तेज थी कि वह कई किलोमीटर दूर से दिखाई दे रही थी. वहीं सिलेंडरों में हो रहे धमाके भी दूर-दूर तक सुनाई दे रहे थे. (सांकेतिक तस्वीर)

आग की लपटें इतनी तेज थी कि वह कई किलोमीटर दूर से दिखाई दे रही थी. वहीं सिलेंडरों में हो रहे धमाके भी दूर-दूर तक सुनाई दे रहे थे. (सांकेतिक तस्वीर)

Big accident in Bhilwara: भीलवाड़ा जिले में मंगलवार रात को बड़ा हादसा हो गया. यहां गैस सिलेंडरों से भरे ट्रक में आग (Fire) लग गई. इससे गैस सिलेंडर ब्लास्ट हो गए. हादसे के कारण इलाके में दहशत फैल गई.

  • Share this:
भीलवाड़ा. जिले के हनुमाननगर थाना इलाके में मंगलवार रात को गैस सिलेंडरों (Gas cylinders) से भरे एक ट्रक में अचानक आग लग गई. इससे उसमें भरे सिलेंडरों में एक के बाद एक विस्फोट (Blast) होने शुरू हो गए. गैस सिलेंडरों में विस्फोट इतनी तेज आवाज के साथ हुआ कि आसपास का इलाका थर्रा गया. इससे इलाके में अफरातफरी मच गई और वहां दशहत का माहौल हो गया.

भीलवाड़ा पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा ने बताया कि जयपुर से 400 से अधिक घरेलू गैस सिलेंडर भरकर एक ट्रक राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 52 पर कोटा जा रहा था. इसी दौरान देर रात टिकड़ गांव के समीप एक मोड़ पर ट्रक डिवाइडर से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया. उस समय टिकड़ गांव में बारिश हो रही थी और आकाश से बिजली भी चमक रही थी. इससे ट्रक में आग लग गई. बकौल एसपी ट्रक में आग लगने की दो संभावनाएं हैं. पहली तो संभवतया आग दुर्घटना से आग लगी या फिर आकाश से बिजली गिरने से सिलेंडरों में आग लग गई.

कई किलोमीटर दूर से दिखाई दे रही थीं लपटें

सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची. दुर्घटना स्थल से टिकड़ गांव महज 200 मीटर की दूरी पर ही स्थित है. आग की लपटें इतनी तेज थी कि वह कई किलोमीटर दूर से दिखाई दे रही थी. वहीं, सिलेंडरों में हो रहे धमाके भी दूर-दूर तक सुनाई दे रहे थे. पुलिस ने तत्काल देवली और कोटा दोनों तरफ का यातायात रोक कर लोगों को वहां से हटा दिया, क्योंकि आग लगने से गैस सिलेंडर में लगातार हो रहे विस्फोटों से उसके टुकड़े दूर-दूर तक गिर रहे थे.
Youtube Video


गांव के चारों तरफ फैल गए सिलेंडरों के टुकड़े

लगातार आग और विस्फोट के कारण फायर ब्रिगेड के साथ प्रशासनिक और पुलिस अमला भी घटनास्थल पर नहीं पहुंच पा रहा था. इससे आग पूरी तरह से बेकाबू हो गई. रात करीब 11 बजे बाद आग पर काबू पाया जा सका. विस्फोट के कारण सिलेंडरों के टुकड़े टिकड़ गांव के चारों फैल गये.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज