Lockdown: चूल्हा जलाने लकड़ियां ले जा रही महिलाओं से वनकर्मी ने कराई उठक-बैठक, Video वायरल
Bhilwara News in Hindi

Lockdown: चूल्हा जलाने लकड़ियां ले जा रही महिलाओं से वनकर्मी ने कराई उठक-बैठक, Video वायरल
डीएफओ बोले बिल्कुल गलत कार्य है. ऐसा नहीं करना चाहिए था.

लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान भीलवाड़ा जिले में घर का चूल्हा जलाने के लिए जंगल से लकड़ियां लेने गई करीब एक दर्जन महिलाओं से वनकर्मी ने उठक-बैठक कराई. इनमें 1-2 बुजुर्ग महिला भी शामिल बताई जा रही है.

  • Share this:
भीलवाड़ा. देशभर में लागू लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान भीलवाड़ा जिले के बिजौलिया इलाके में पिछले दिनों घर का चूल्हा जलाने के लिए जंगल से लकड़ियां लेने गई करीब एक दर्जन महिलाओं से एक वनकर्मी ने उठक-बैठक (Sit ups) करवाई. इनमें 1-2 बुजुर्ग महिला भी शामिल बताई जा रही हैं. वनकर्मी ने मर्यादा की हदें पार करते हुए इन बुजुर्ग महिलाओं को भी उठक-बैठक लगाने पर मजबूर किया. इस दौरान इसका किसी ने वीडियो बना लिया. यह Video अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

गोवर्धनपुरा गांव के तीखी वन खंड का है मामला

जानकारी के अनुसार यह वीडियो बिजौलिया इलाके के गोवर्धनपुरा गांव के तीखी वन खंड का बताया जा रहा है. पिछले महीने 16 अप्रेल को करीब दर्जनभर महिलाएं घर का चूल्हा जलाने के लिए जंगल में लकड़ियां लेने के लिए गई थीं. इन महिलाओं को लकड़ियां ले जाते समय फोरेस्टर लादूलाल शर्मा ने पकड़ लिया. लादूलाल ने महिलाओं से कहा कि वे अवैध रूप से लकड़ियां ले जा रही हैं, लिहाजा इसका जुर्माना भरे. जब महिलाओें ने कहा कि उनके पास पैसे नहीं हैं तो आरोपी फोरेस्टर लादूलाल ने बतौर सजा उनको उठक-बैठक लगाने का फरमान सुना दिया.




जो उठक-बैठक नहीं निकाल पा रहीं है वो मुर्गी बन जाएं

इन महिलाओं में एक-दो बुजुर्ग महिला भी शामिल थीं. वायरल वीडियो में वनकर्मी उनसे भी अच्छी तरह से उठक-बैठक निकालने के लिए कहते हुए सुनाई दे रहा है. वीडियो में यह भी सुनाई दे रहा कि जो उठक-बैठक नहीं निकाल पा रही हैं, वो मुर्गी बन जाए. घटना के करीब 25 दिन बाद बीजेपी के एक पदाधिकारी ने इस घटना को पुलिसकर्मियों की हरकत बताते हुए वीडियो को अपने टि्वटर हैंडल पर शेयर किया है. उसके बाद से यह वीडियो प्रदेशभर में जबर्दस्त तरीके से वायरल हो गया. जब मामले की जांच-पड़ताल की गई तो यह वनकर्मी की हरकत सामने आई.

डीएफओ बोले- बिल्कुल गलत कार्य

इस बारे में भीलवाड़ा के जिला वन अधिकारी देवेंद्र प्रताप जागावत का कहना है कि तीखी वन खंड में 16 अप्रैल को कुछ महिलाएं अवैध रूप लकड़ी लेकर जा रही थीं. उन्हें फॉरेस्टर लादूलाल शर्मा ने रोका और जुर्माने की राशि नहीं होने पर उनसे उठक-बैठक लगवाई. ऐसा कराना बिल्कुल गलत है. फॉरेस्टर को ऐसा नहीं करना चाहिए था. जिला वन अधिकारी जागावत ने कहा कि फॉरेस्टर लादूलाल शर्मा के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जा रही है.

महाराणा प्रताप जयंती पर पीएम नरेन्द्र मोदी और सीएम गहलोत ने कही ये बड़ी बातें

Dungarpur: इन 24 उपायों से अभी तक रोक रखी है शहर में Corona की 'एंट्री'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज