• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • नोटबंदीः कालाधन छिपाने के लिए मजदूरों को बांटा 6 महीने का एडवांस वेतन

नोटबंदीः कालाधन छिपाने के लिए मजदूरों को बांटा 6 महीने का एडवांस वेतन

फोटो-(ईटीवी)

फोटो-(ईटीवी)

केन्द्र सरकार द्वारा नोटबंदी के आदेश देने के बाद राजसमंद की मार्बल मंडी मे कालाधन रखने वालों की नींदें उड़ गई हैं.

  • Share this:
केन्द्र सरकार द्वारा नोटबंदी के आदेश देने के बाद राजसमंद की मार्बल मंडी मे कालाधन रखने वालों की नींदें उड़ गई हैं.

इस आदेश के बाद बौखलाए व्यवसायी गलत तरीकों से अपना कालाधन छिपाने में जुटे हैं. पूर्व में भी ऐसी आशंका थी, लेकिन बुधवार शाम हुए एक घटनाक्रम ने पूरी बात खोलकर रख दी.

8 दिसंबर को नोटबंदी के बाद से कुछ मार्बल व्यवसायियों ने अपने मजदूरों को छह माह तक की तनख्वाह एडवांस मे दे दी, तो कुछ ने उन्हें पैसों का लालच देकर बैंकों की लाइनों में लगवाया और नोट बदलवा लिए.

ऐसा ही एक मामला नाथद्वारा के नान्दोड़ा गांव में सामने आया, जिसके बाद फैक्ट्री मालिक द्वारा मजदूर से मारपीट की गई. मजदूर ने जब मारपीट की शिकायत पुलिस में दी तो पूरा मामला खुलकर सामने आ गया. ऐसे सभी मामलों मे बैंक ऑफ बड़ौदा नाथद्वारा शाखा के कुछ बैंककर्मियों की मिलीभगत सामने आ गई है.

पुलिस सूत्रों के मुताबित, नाथद्वारा के सोनम मार्बल के मालिक ने अपनी फैक्ट्री पर ठेकेदारी करने वाले मजदूर इन्दर सिंह के खाते में नोटबंदी के बाद 2 लाख 45 हजार रुपए जमा करवा दिए. पैसा जमा करवाने के दौरान उसे एक वर्ष बाद बिना ब्याज के रकम वापस लौटाने की बात सामने आई, लेकिन उसके बाद पीड़ित को कुछ पैसों की आवश्यकता होने पर उसने अपने खाते से कुछ रकम निकलवाई. इसकी सूचना बैंककर्मियों द्वारा फैक्ट्री मालिक को दे दी गई.

इसके बाद फैक्ट्री मालिक ने बुधवार देर रात कुछ लोगों के साथ मिलकर मजदूर से मारपीट की, जिसकी रिपोर्ट देने के लिए थाने पर पंहुचे पीड़ित ने अपनी आपबीती कह सुनाई.

गौरतलब है कि नाथद्वारा के दो बैकों में पूर्व में भी फर्जी तरीके से बैंककर्मियों से मिलीभगत कर रकम जमा करवाने, नोट बदलवाने और दूसरों के खाते में रकम जमा करवाने के मामले सामने आ चुके हैं. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच मे जुटी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज