भीलवाड़ा के परसरामपुरा गांव में सात दिन पर आता है पानी का टैंकर

राजस्थान के गांवों में पेयजल का कितना संकट है इसका अंदाजा भीलवाड़ा के परसरामपुरा गांव के उदाहरण से लगाया जा सकता है. इस गांव में सात दिन पर पानी का टैंकर आता है और लोग पानी को ताला में बंद करके रखते हैं.

News18 Rajasthan
Updated: June 13, 2018, 10:32 PM IST
भीलवाड़ा के परसरामपुरा गांव में सात दिन पर आता है पानी का टैंकर
नारायणी देवी, ग्रामीण महिला
News18 Rajasthan
Updated: June 13, 2018, 10:32 PM IST
भीलवाड़ा जिले के गुलाबपुरा उपखंड के आगुचा ग्राम पंचायत के परसरामपुरा गांव में पानी की ऐसी समस्‍या है कि लोगों को पानी के ड्रमों पर ताला लगाकर रखना पड़ रहा है. परसरामपुरा गांव में 7 से 8 दिन के अंतराल में भारतीय जिंक लिमिटेड पेयजल का टैंकर भेजता है. एक टैंकर गांव में प्रत्येक घर के बाहर प्लास्टिक के रखे हुए ड्रमों में पानी भरता है.

पानी पर्याप्त नहीं होने के कारण रात में पानी चोरी होने की वजह से ग्रामवासी अपने घर के बाहर रखे हुए ड्रमों में हमेशा ताला लगाते हैं. इसका मकसद पानी को चोरी होने से बचाना होता है. ग्रामवासियों का एक स्वर में कहना है कि हमारे गांव में पेयजल का बहुत संकट है. यहां तक कि पशुओं के पीने के पानी की भी कमी है.

हम लोगों को भारतीय जिंक लिमिटेड द्वारा पानी सप्लाई किया जा रहा है लेकिन पानी की कमी के कारण 8 दिन के अंतराल में पानी मिलने के कारण हमारे घर के बाहर के प्लास्टिक के ड्रमों को ताला लगाना पड़ता है . ग्रामीण यह भी कहते है कि हम चाहते नहीं हैं लेकिन पानी की शिकायत पर आपस में झगडे होते हैं. यदि हमें दो या तीन दिन पर पानी सप्‍लाई कर दिया जाए तो यह नौबत नहीं आएगी.

(रिपोर्ट- प्रमोद तिवारी)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर