• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan News: कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाल की टिप्पणी से चारण समाज में फैला आक्रोश

Rajasthan News: कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाल की टिप्पणी से चारण समाज में फैला आक्रोश

रणदीप सुरजेवाल ने गत 20 जून को राम जन्मभूमि के चंदे  से संबंधित दिये गये बयान में चारण समाज पर अमार्यदित और अशोभनीय टिप्पणी की थी.  (फाइल फोटो)

रणदीप सुरजेवाल ने गत 20 जून को राम जन्मभूमि के चंदे से संबंधित दिये गये बयान में चारण समाज पर अमार्यदित और अशोभनीय टिप्पणी की थी. (फाइल फोटो)

Outrage in rajasthan charan community: चारण समाज को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला की ओर से की गई टिप्पणी से नाराज समाज की संस्थाओं ने उनसे माफी मांगने की मांग की है.

  • Share this:
    सीकर/बीकानेर. कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाल (Randeep Surjewal) की ओर से चारण समाज को लेकर दिये गये बयान से इस समाज में जबर्दस्त आक्रोश व्याप्त है. इस संबंध में शेखावाटी चारण सभा (Shekhawati Charan Sabha) ने राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष एवं गहलोत सरकार के शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को को ज्ञापन भेंटकर मांग की है कि सुरजेवाल अपनी इस टिप्पणी वापस लें. वहीं देशनोक के करणी मंदिर निजी प्रन्यास ने भी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र भेज कर मांग की है कि सुरजेवाला को अपनी टिप्प्णी वापस लेने के निर्देश दें.

    डोटासरा को दिये गये ज्ञापन में शेखावाटी चारण सभा ने कहा है कि रणदीप सुरजेवाल ने गत 20 जून को राम जन्मभूमि के चंदे से संबंधित दिये गये बयान में उन्होंने चारण समाज पर अमार्यदित और अशोभनीय टिप्पणी की है. सुरजेवाल ने कलम और तलवार के धनी तथा अपनी वाणी और लेखनी से शौर्य, शक्ति और भक्ति को नये आयाम देने वाले चारण समाज के लिये घोर अपमानजनक बयान दिया है. यह बर्दाश्त करने योग्य नहीं है. लिहाजा चारण सभा की मांग है कि सुरजेवाल अपना बयान वापस लें. शेखावाटी चारण सभा ने कहा कि सुरजेवाला के बयान से समाज में जबर्दस्त आक्रोश है.

    चारण समाज का भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अविस्मरणीय योगदान है
    वहीं देशनोक के करणी मंदिर निजी प्रन्यास ने अपने पत्र में कहा कि जातियों से समूह का निर्माण होता है. प्रत्येक जाति का अपना एक विशिष्ट स्थान है. सुरजेवाल के अल्पज्ञान के कारण दिये गये बयान से पूरा समाज आहत है. चारण जाति कलम के साथ तलवार की भी धनी रही है. चारण समाज के केसरी सिंह बारहठ, प्रताप सिंह बारहठ और जोरावर सिंह बारहठ का भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अविस्मरणीय योगदान रहा है. ज्ञापन में सोनिया गांधी से मांग की गई है सुरजेवाल को निर्देशित करें कि वे अपना यह बयान वापस लें और समाज से माफी मांगें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज