Home /News /rajasthan /

EXCLUSIVE VIDEO: इस अस्पताल के आईसीयू में भर्ती मरीज के शरीर में पड़े कीड़े

EXCLUSIVE VIDEO: इस अस्पताल के आईसीयू में भर्ती मरीज के शरीर में पड़े कीड़े

बीकानेर संभाग का सबसे बड़ा अस्पताल जिसमें मरीज इस आस में पहुंचते हैं कि यहां पहुंचने के बाद धरती के भगवान जतन कर उन्हें अच्छा कर ही देंगे. लेकिन, संभाग के सबसे बड़े अस्पताल पीबीएम में आईसीयू वार्ड में भी ऐसी लापरवाही की है कि एक मरीज के घावों में ही कीड़े पड़ गए.

अधिक पढ़ें ...
बीकानेर संभाग का सबसे बड़ा अस्पताल जिसमें मरीज इस आस में पहुंचते हैं कि यहां पहुंचने के बाद धरती के भगवान जतन कर उन्हें अच्छा कर ही देंगे. लेकिन, संभाग के सबसे बड़े अस्पताल पीबीएम में आईसीयू वार्ड में भी ऐसी लापरवाही की है कि एक मरीज के घावों में ही कीड़े पड़ गए.

13 दिनों से भर्ती मरीज के परिजन घाव पर ड्रेसिंग के लिए ही कई दिनों से मन्नत करते रहे पर किसी ने नहीं सुनी. ईटीवी/न्यूज18 ने जब खबर चलाई तो प्रशासन नींद से जागा. लेकिन चिकित्स्कों की लापरवाही इस कदर शरीर को संक्रमित कर चुकी थी कि मौत को रोक ना सकीं. अस्पताल अधीक्षक ने खुद माना कि वह इस घटना से शर्मिंदा हैं और दोषियों पर कार्यवाही करेंगे.

13 दिन पहले हुआ था भर्ती
13 दिन पहले पीबीएम अस्पताल के आईसीयू में घायल को निर्मल को भर्ती करवाया गया था. परिजनों को आस थी की बेहतर चिकित्सा से उसकी हालत सुधरेगी. लेकिन आईसीयू में हुई लापरवाही से उसकी मंगलवार को मौत हो गई. निर्मल एक मंदबुद्दि युवक था जो घर में सीढियों से गिर गया था.

निर्मल के माता-पिता पिछले 5 दिनों से लगातार आईसीयू में तैनात अस्पताल कर्मियों से मन्नते कर रहे थे कि उसके घाव को साफ कर ड्रेसिंग की जाए लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया.नतीजा उसेक घाव में कीड़े पड़ गए.

निर्मल के पिता लक्ष्मण गहलोत का कहना है कि बार-बार मिन्नतें करने के बाद भी कई दिनों तक घाव पर पट्टी तक नहीं बदली गई, जिसके चलते घाव में कीड़े पड़ गए.

अधीक्षक ने माना हुई लापरवाही
तस्वीरों में साफ नजर आ रहा था कि किस कदर लापरवाही बरती गई थी. खबर चलने के बाद अस्पताल अधीक्षक भी हरकत में आए. अधीक्षक डॉ. केके वर्मा आईसीयू पहुंचे और मरीज के परिजनों से जानकारी ली. लेकिन तब तक देर हो चुकी थी. मीडिया के समक्ष डॉ. वर्मा ने माना कि इस घटना से वे शर्मिन्दा है और पूरे मामलें की जांच करवाई जाएगी.

प्रथम दृष्टया यह बात सामनें आई है कि तीन दिनों से घाव पर ड्रेसिंग नहीं की गई. वर्मा ने लापरवाह कर्मियों पर कार्यवाही की बात भी कही.

लापरवाह प्रबंधन
पर अहम सवाल यह है कि बीकानेर संभाग के सबसे बड़े अस्पताल की लापरवाही पहली बार सामने आई हो ऐसा नहीं है. चिकित्सा मंत्री भी ईटीवी की खबरों से इत्तफाक रखकर काफी कुछ कह चुके है। उम्मीद करें अब और नहीं होगा ये सब.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

अगली ख़बर