लाइव टीवी

पुलिस में वर्दी का रौब: एक शिकायत बन सकती है नौकरी के लिए खतरा
Bikaner News in Hindi

Satveer Singh Rathore | News18 Rajasthan
Updated: January 27, 2020, 5:29 PM IST
पुलिस में वर्दी का रौब: एक शिकायत बन सकती है नौकरी के लिए खतरा
बीकानेर रेंज आईजी जोश मोहन ने पुलिस के खिलाफ मिलने वाली शिकायतों पर कार्रवाई के लिए स्पेशल टीम गठित कर दी है.

अगर किसी पुलिसकर्मी और अधिकारी ने अपना रौब दिखाने की कोशिश की तो उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई (Departmental action) की जाएगी. आईजी जोश मोहन ने रेंज के सभी जगह यह आदेश जारी कर दिया है.

  • Share this:
बीकानेर. 'अपराधियों में भय और आमजन में विश्वास' जैसे पुलिस (Police) के इस स्लोगन से हर कोई वाकिफ है. इसके बाद भी हर बार कई जगह पुलिस अधिकारी और पुलिसकर्मी अपने वर्दी के रौब को दिखाने में पीछे नहीं रहते हैं. इस कारण कई परिवादी पुलिस से डरा हुआ रहता है, लेकिन अब अगर
किसी पुलिसकर्मी और अधिकारी ने अपना रौब दिखाने की कोशिश की तो उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई (Departmental action) की जाएगी. आईजी जोश मोहन ने रेंज के सभी जगह यह आदेश जारी कर दिया है. बीकानेर (Bikaner) रेंज आईजी जोश मोहन ने पुलिस के खिलाफ मिलने वाली
शिकायतों पर कार्रवाई के लिए स्पेशल टीम (Special Team) गठित कर दी है. टीम का प्रभारी अपराध एवं सतर्कता अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार शर्मा को बनाया गया है. आईजी ने शिकायत करने के लिए वाट्सअप (WhatsApp) नंबर 8764507304 भी जारी कर दिया है.

पुलिसकर्मी या पुलिस अधिकारी पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी

इस स्पेशल सेल में कांस्टेबल से लेकर उच्चाधिकारी की शिकायत की जा सकेगी. वहीं शिकायत मिलने पर इनकी जांच का जिम्मा उच्च स्तर के अधिकारियों द्वारा की जाएगी. अगर शिकायत सही पाई गई तो उस पुलिसकर्मी या पुलिस अधिकारी पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी. किसी भी परिवादी को अगर
कोई शिकायत है तो वह जिला व रेंज स्तर पर शिकायत लिखित और वाट्सअप नंबर पर दे सकेगा. इस वाट्सअप का संचालन पुलिस अधीक्षक या पुलिस महानिरीक्षक रेंज खुद करेंगे. शिकायतकर्ता का नाम-पता बिल्कुल गोपनीय रखा जाएगा. इसके साथ ही जिला ए‌वं रेंज कार्यालय के बाहर लगी शिकायत पेटी में भी पीड़ित लिखित शिकायत भेज सकता है.

बहरहाल हर बार कई जगह पुलिसकर्मी या अधिकारी अपने रौब के कारण चर्चा में रहते हैं. उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं होने के कारण वह अपना रौब झाड़ने में कामयाब हो जाते हैं, लेकिन अब अगर कोई पुलिसकर्मी रौब झाड़ने की सोच रहा है और उसकी शिकायत आगे तक पहुंच गई तो उसकी नौकरी भी खतरे में आ सकती है. इसलिए अब पुलिसकर्मियों को अपना रौब अपने घर पर ही छोड़कर आना होगा, नहीं तो एक शिकायत उनकी नौकरी के लिए खतरा बन सकती है.ये भी पढ़ें - यौन उत्पीड़न: आसाराम के सह-आरोपी प्रकाश और शिवा पर कोर्ट जल्द देगी फैसला

ये भी पढ़ें - तमंचे के साथ Facebook पर फोटो डालना पड़ा महंगा, उदयपुर पुलिस के हाथों गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बीकानेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 5:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर