लाइव टीवी

फर्जी कॉल सेंटर के जरिए की 1.74 करोड़ की ठगी, अहमदाबाद से 6 गिरफ्तार

Vikram Jagarwal | News18 Rajasthan
Updated: November 29, 2019, 5:56 PM IST
फर्जी कॉल सेंटर के जरिए की 1.74 करोड़ की ठगी, अहमदाबाद से 6 गिरफ्तार
गिरफ्तार किए गए ऑनलाइन ठगी गिरोह के सदस्य

बीकानेर पुलिस ने फर्जी कॉल सेंटर (fake call center) के माध्यम से 1.74 करोड़ रुपए की ठगी करने वाले एक अंतर राज्यीय गैंग का पर्दाफाश (Inter state gang busted) किया है. अहमदाबाद से इस गैंग के 6 सदस्यों को गिरफ्तार करके बीकानेर (Bikaner) लाई है.

  • Share this:
बीकानेर.  पुलिस ने ऑनलाइन ठगी करने वाले एक अंतरराज्यीय गैंग (Inter state gang) का पर्दाफाश किया है. यहां की कोटगेट थाना पुलिस ने 1.74 करोड़ रुपए की ठगी और फर्जी कॉल सेंटर  (fake call center) चलाने के मामले में 6 लोगों को अहमदाबाद  (Ahmadabad) से गिरफ्तार किया है. थानाधिकारी धरम पूनिया ने बताया कि रामसर गांव के किसान मूलाराम ने भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) की पॉलिसी में निवेश का झांसा देकर 1 करोड़ 74 लाख रुपए की ठगी किए जाने का मामला दर्ज कराया था. उन्होंने कहा कि मूलाराम के पास अलग-अलग नंबरों से कॉल आते थे, जो खुद को बैंक का प्रतिनिधि बताते थे और कहते थे कि वे दिल्ली हेड ऑफिस (Delhi Head Office) से बात कर रहे हैं.

अलग-अलग खातों में जमा कराए थे रुपए

उन लोगों ने बैंक में पूंजी निवेश के नाम पर 8 माह में अलग-अलग खातों में कुल 1 करोड़ 74 लाख रुपए जमा करवाए. थानाधिकारी धरम पूनिया की अगुवाई में आईओ कन्हैया लाल ने मामले की जांच की. जांच में सामने आया कि अधिकांश बैंक खाते व मोबाइल नाम पते कॉल सेंटर प्रीत विहार, दिल्ली में चलाते थे. जांच में सभी नाम पते एवं बैंक खाताधारकों के नाम फर्जी पाए गए. पुलिस टीम ने खातों से मिले फोटो और मोबाइल नंबरों के आधार दिल्ली व अन्य स्थानों पर जाकर खोजबीन की.

अहमदाबाद से बीकानेर लाकर की गई पूछताछ 

इस दौरान आरोपियों के लोकेशन अहमदाबाद आने पर पुलिस ने वहां से सबको हिरासत में लिया और उन्हें बीकानेर लाकर जब पूछताछ की गई तो आरोपियों ने ठगी करना स्वीकार कर लिया. पुलिस ने बताया कि गिरोह में शामिल दिल्ली के रहने वाले रोहित कुमार शर्मा, सुनील कुमार गुप्ता, विकास कुमार शर्मा, जितेश श्रीवास्तव, अनुप कुमार जाटव, दिनेश कुमार कनोजिया को गिरफ्तार किया गया है.

कोटगेट थानाधिकारी धरम पूनिया ने दी मामले की जानकारी


गिरोह के अधिकांश सदस्य बहुत पढ़े लिखे एवं आईटी के जानकार हैं, जो वास्तविक कंपनियों से पॉलिसी धारकों का डेटा चुराकर उनसे संपर्क करते हैं. ज्यादा बोनस और लाभ का प्रलोभन देकर ग्राहकों से अपने बैंक खातों में राशि ट्रांसफर करवा लेते हैं. पुलिस अब इनके और साथियों की तलाश में जुट गई है.
Loading...

ये भी पढ़ें- लूट के विरोध में बहरोड़ में व्यापारियों ने किया बाजार बंद, धरने पर बैठे

भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केंद्र में लगी आग, जल गए कंप्यूटर समेत सभी उपकरण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बीकानेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 5:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...