दुनियाभर में बात नहीं बनी तो भारत को परेशान करने के लिए अब टिड्डियों से हमला करवा रहा है पाकिस्तान

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में पिछले एक महीने से टिड्डी दलों को काबू में करने के लिए पेस्टीसाइड का छिड़काव नहीं किया गया और इन्हें भारत की तरफ धकेल दिया गया है.

News18Hindi
Updated: September 13, 2019, 1:31 PM IST
दुनियाभर में बात नहीं बनी तो भारत को परेशान करने के लिए अब टिड्डियों से हमला करवा रहा है पाकिस्तान
पाकिस्तान के सिंध प्रांत से टिड्‌डी दल लगातार भारतीय सीमा में प्रवेश कर रहे हैं. (फोटो-प्रतिकात्मक)
News18Hindi
Updated: September 13, 2019, 1:31 PM IST
बीकानेर. भारत को दबाव में लाने के लिए पाकिस्तान (Pakistan) ने पहले दुनियाभर का चक्कर काटा, फिर बॉर्डर से घुसपैठ की कुछ नाकाम कोशिशों को भी अंजाम दिया गया. लेकिन हद तब हो गई जब परेशान करने के लिए पाकिस्तान ने टिड्डियों के दलों को भारत (India) की तरफ धकेलना शुरू किया. वह भी ऐसे दल जिन्हें देखकर यह साफ पता लग जाए कि पहले इन्हें पनपाया गया है और फिर इस तरफ धकेला गया है. राजस्थान के सीमावर्ती इलाकों में 20-25 टिड्‌डी दलों (Tiddi Dal) ने प्रवेश किया है और कुछ दल (Huge swarm of locusts) तो इतने बड़े हैं कि ये कई किलोमीटर का क्षेत्र घेर रहे हैं. सूत्रों के अनुसार इन टिड्डी दलों को पनपाने के लिए पाकिस्तान के सिंध प्रांत में पिछले एक महीने से पेस्टीसाइड का छिड़काव नहीं किया गया. इसके पीछे सीधे तौर पर साजिश बताई जा रही है.

Tiddi Dal, locusts, pak border
पाकिस्तान से राजस्थान की सीमा में प्रवेश करने वाले टिड्‌डी दल कई-कई किलोमीटर लंंबे हैं.


बीकानेर, जोधपुर, जैसलमेर के बॉर्डर क्षेत्रों में खतरा
राजस्थान के सीमावर्ती इलाकों में कुछ महीने पहले भी टड्डी दल देखे गए थे. टिड्‌डी नियंत्रण विभाग की ओर से लगातार पेस्टीसाइड छिड़काव के जरिए इन पर काबू किया गया. लेकिन अब पाकिस्तानी सीमा से प्रदेश में बड़ी संख्या में टिड्‌डी दलों ने प्रवेश किया है. सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों में बीकानेर, जोधपुर और जैसलमेर का बॉर्डर क्षेत्र बताया गया है.

ये भी पढ़ें- राजस्थान में Traffic Rules तोड़ने पर इतना देना होगा जुर्माना!

बीकानेर में कई किलोमीटर में फैले हैं ये दल
बीकानेर में टिड्डी दलों का हमला किसानों के लिए आफत बन गया है. यहां पर कई किलोमीटर क्षेत्र में फैले इन दलों ने फसलों को बर्बाद करना शुरू कर दिया है. इतने बड़े टिड्‌डी दलों को रोकने के लिए यहां 10 टीमें लगातार पेस्टीसाइड का छिड़काव कर रही हैं. जानकारी के अनुसार इन दलों को रोकने में कुछ कामयाबी हासिल हुई है लेकिन खतरा अभी भी बना हुआ है.
Loading...



बॉर्डर क्षेत्र में कुल 45 टीमें सक्रिय
अंतरराष्ट्रीय टिड्डी नियंत्रण संगठन की ओर से प्रदेश के सीमांत इलाकों पर खास नजर रखी जा रही है. संगठन के अनुसार बॉर्डर के नजदीकी इलाकों में टिड्‌डी दल देखे गए हैं और इन्हें नियंत्रित करने के लिए कुल 45 टीमें लगातार काम कर रही हैं.

ये भी पढ़ें- पाकिस्तानी सीमा पार से 26 साल बाद फिर इस 'हमले' का खतरा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बीकानेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 13, 2019, 10:48 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...