लाइव टीवी

स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018 की तैयारियों पर बीकानेर में हुई कार्यशाला

News18 Rajasthan
Updated: August 1, 2018, 11:00 PM IST
स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018 की तैयारियों पर बीकानेर में  हुई कार्यशाला
स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018 की तैयारियों को लेकर बीकानेर में एक कार्यशाला आयोजित की गई. कार्यशाला में ओडीएफ निरंतरता, स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण व माहवारी स्वच्छता प्रबन्धन योजना पर विचार किया गया.

स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018 की तैयारियों को लेकर बीकानेर में एक कार्यशाला आयोजित की गई. कार्यशाला में ओडीएफ निरंतरता, स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण व माहवारी स्वच्छता प्रबन्धन योजना पर विचार किया गया.

  • Share this:
पूरे देश के साथ बीकानेर में 1 से 30 अगस्त तक स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018 का आयोजन किया जा रहा है. जिले में इसकी तैयारियों के संबंध में जिला परिषद सभागार में बुधवार को जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया. कार्यशाला में ओडीएफ निरंतरता, स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण व माहवारी स्वच्छता प्रबन्धन योजना पर विचार-विमर्श किया गया.

जिला प्रमुख सुशीला सींवर ने बताया कि यह सर्वेक्षण भारत सरकार द्वारा चयनित स्वतंत्रा सर्वेक्षण संस्थाओं के माध्यम से किया जाएगा. सर्वेक्षण के दौरान स्वच्छता के विभिन्न मापदण्डों के आधार पर जिलों की रैंकिंग की जाएगी. सर्वोत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले राज्यों एवं जिलों को 2 अक्टूबर 2018 को राष्ट्रीय पुरस्कार से पुरस्कृत किया जाएगा. उन्होंने कहा कि गांवों में कचरा प्रबन्धन उचित प्रकार से किया जाए व पानी की बचत के लिए आमजन को प्रेरित करें. इस अभियान का व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुए, इसमें अधिकाधिक जनप्रतिनिधियों व आमजन को शामिल किया जाए.

जिला कलक्टर डॉ. एन के गुप्ता ने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण का उद्देश्य स्वच्छता के मानकों पर जिले की रैंकिंग करना, स्वच्छता की वास्तविक स्थिति का आंकलन करते हुए, सूचना शिक्षा व संचार गतिविधियों के माध्यम से ग्रामीणों की स्वच्छता की स्थिति में सुधार लाना और इसे बेहतर बनाने  के आमजन के सुझावों को सम्मिलित करना है. उन्होंने बताया कि सर्वेक्षण के तहत सिटीजन फीडबैक के 35 प्रतिशत, प्रत्यक्ष अवलोकन के 30 प्रतिशत और सम्पन्न कार्यों की प्रगति के 35 प्रतिशत अंक निर्धारित किए गए हैं.

उन्होंने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण टीम का पूर्ण सहयोग किया जाए. सर्वेक्षण के सम्बन्ध में स्वच्छता मोबाइल एप को डाउनलोड करवाकर अधिकाधिक आमजन के सुझावों व शिकायतों को एप में दर्ज करवाया जाए. उन्होंने कहा कि बीकानेर, राज्य का प्रथम ओडीएफ घोषित जिला है, इस सर्वेक्षण में भी जिला अव्वल आए इसके लिए गंभीरता से प्रयास किए जाएं. इस कार्यशाला में मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजीत सिंह सहित ब्लाक व जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे.

(रिपोर्ट- रवि विश्नोई)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बीकानेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 1, 2018, 11:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...