ज्ञापन सौंपने आया BJP का पूर्व विधायक कलेक्टर के सामने लगी टेबल पर बैठा, बोला- दम है तो उठाकर दिखाओ

कलेक्टर के सामने लगी टेबल पर बैठे पूर्व बीजेपी विधायक.
कलेक्टर के सामने लगी टेबल पर बैठे पूर्व बीजेपी विधायक.

राजस्थान (Rajasthan) के झुंझनू में ज्ञापन सौंपने गये बीजेपी नेताओं (BJP leaders) ने कलेक्टर से बदतमीजी की. नेताओं ने कहा कि कलेक्टर जनप्रतिनिधियों की भावनाओं का सम्मान नहीं करते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2020, 11:52 AM IST
  • Share this:
झुंझुनूं. बीजेपी के नेता (BJP Leaders) अपनी मांगों को लेकर झुंझुनू जिला कलेक्टर (Collector) यूडी के पास ज्ञापने सौंपने पहुंचे थे. इस दौरान बीजेपी नेताओं ने कलेक्टर से बदतमीजी (Misbehave) की. भाजपा के पूर्व विधायक तो कलेक्टर के सामने लगी टेबल पर बैठ गए और कहने लगे आप में दम है तो उठाकर दिखाइये. भाजपा नेता सांसद नरेंद्र कुमार, विधायक शुभकरण चौधरी और जिलाध्यक्ष पवन मंवड़िया के नेतृत्व में कलेक्टर को ज्ञापन सौंपने आए थे.

आरोप है कि भाजपा नेताओं ने कलेक्टर यूडी खान के चेंबर में घुसते ही उनसे अभद्र भाषा में बात करनी शुरू कर दी.  वहीं बीजेपी नेताओं का कहना है कि चेंबर में आने पर जिला कलेक्टर उनके सम्मान में खड़े नहीं हुए. इस बात को लेकर उदयपुरवाटी के पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी को गुस्सा आ गया और वो कलेक्टर के सामने लगी टेबल पर ही बैठ गये. आरोप है कि कलेक्टर को भला-बुरा भी कहा. आरोप है कि सांसद नरेंद्र कुमार जिला अध्यक्ष पवन मुंडिया और अन्य नेता भी कलेक्टर को अपशब्द कहे और बदतमीजी की. इस दौरान कलेक्टर के चेंबर में पुलिस भी मौजूद थी.

Rajasthan: कांग्रेस विधायक कैलाश त्रिवेदी का कोरोना से निधन, मेदांता अस्पताल में थे भर्ती



वहीं भाजपा नेताओं ने कहा कि कलेक्टर ने खड़े होकर ज्ञापन नहीं लिया. ऐसा करना सांसद, विधायक और अन्य नेताओं का अपमान है. इस बात से भाजपा नेताओं में गुस्सा था, ऐसे में जिला कलेक्टर से कुछ बात हुई है. पूर्व विधायक ने कहा कि केलेक्टर यूडी खान जनप्रतिनिधियों का सम्मान करना नहीं जानते हैं. वहीं विश्वंभर पूनियां ने ज्ञापन को जिलाध्यक्ष पवन मावंडिया से छीनकर फाड़ने की कोशिश की और कलेक्टर की टेबल बजाई. वहीं भाजपा जिला महामंत्री योगेंद्र मिश्रा और सरजीत चौधरी चैंबर में ही टेबल के सामने धरने पर बैठ गए.
हालांकि कि मामले को बढ़ता देख पुलिस और मौके पर मौजूद प्रशासनिक अधिकारियों ने बीजेपी नेताओं को समझाकर मामले को शांत कराया. इसके बाद कलेक्टर यूडी खान ने सीट से खड़े होकर ज्ञापन लिया. सांसद नरेंद्र कुमार ने कहा कि पिछले दिनों भी वे ज्ञापन देने गए थे, तब भी कलेक्टर ने प्रोटोकॉल का ध्यान नहीं रखा और कुर्सी पर बैठे-बैठे ही ज्ञापन लिया था, लेकिन तब उस बात को भुला दिया गया था. पर अब हर बार कलेक्टर जनप्रतिनिधियों के सम्मान को ठेस पहुंचा रहे हैं जो बर्दाश्त करने योग्य नहीं है. इस मामले में कलेक्टर यूडी खान ने कहा कि उन्होंने इतने लोगों के चैम्बर आने और सोशियल डिस्टनसिंग के लिए टोका था. वहीं उन्होंने मास्क लगाने के लिए भी कहा था. इस बात पर नेता बदतमीजी करने लगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज