लाइव टीवी

आपराधिक मानव वध के दो साल पुराने मामले में 24 आरोपियों को सजा

Chain Singh Tanwar | ETV Rajasthan
Updated: February 27, 2018, 6:53 PM IST
आपराधिक मानव वध के दो साल पुराने मामले में 24 आरोपियों को सजा
सजा के बाद आरोपियों को पुलिस ले जाती हुई. Photo:Etv/news18

न्यायालय के फैसले में मृतक के विरोधी पक्ष के 13 लोगों को 10-10 साल का कारावास और 20-20 हजार रुपए का अर्थदण्ड और मृतक पक्ष के 11 लोगों को 4-4 साल की सजा और 15-15 हजार रुपए के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया है.

  • Share this:
बूंदी एससी एसटी विशिष्ट न्यायालय ने आपराधिक मानव वध के सवा दो साल पुराने मामले में आज फैसला सुना दिया है. मामले में दोनों पक्षों के 24 आरोपियों को सजा सुनाई है. न्यायालय के फैसले में मृतक के विरोधी पक्ष के 13 लोगों को 10-10 साल का कारावास और 20-20 हजार रुपए के अर्थदण्ड लगाया गया है. वहीं मृतक पक्ष के 11 लोगों को 4-4 साल की सजा और 15-15 हजार रुपए के अर्थ दण्ड से दण्डित किया गया है.

सजा के दो आरोपी रंगलाल और महावीर सरकारी शिक्षक है. गैण्डोली थाना क्षेत्र के रामपुरा धोला गांव में 12 नवंबर 2015 को घटी घटना के संबंध में ये फैसला सुनाया गया है. लोक अभियोजक भूपेन्द्र सहाय सक्सेना ने बताया कि रामपुरा धोला गांव में धोरे के विवाद को लेकर एक ही परिवार के दो गुटों के बीच खूनी संघर्ष हुआ था. जिसमें गम्भीर रूप से घायल नंदकिशोर मीणा की 13 नवंबर को मौत हो गई थी.

गैण्डोली थाने में दोनों पक्षों की ओर से मामला दर्ज कराया गया. जिसमें पुलिस ने दोनों पक्षों के 25 लोगों को गिरफ्तार कर न्यायालय में चालान पेश किया. सुनवाई के दौरान एक आरोपी की मौत हो गई. 77 दस्तावेज और 28 गवाह पेश होने के बाद कोर्ट ने दोनों पक्षों के 24 लोगों को दोषी ठहराते हुए सजा सुनाई है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बूंदी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 27, 2018, 6:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर