लाइव टीवी

सरकारी अस्पताल में सोनोग्राफी के लिए प्रसूताओं को करना पड़ रहा लंबा इंतजार

Chain Singh Tanwar | ETV Rajasthan
Updated: March 13, 2018, 10:28 AM IST
सरकारी अस्पताल में सोनोग्राफी के लिए प्रसूताओं को करना पड़ रहा लंबा इंतजार
बूंदी जिला चिकित्सालय स्थित सोनोग्राफी सेंटर

सबसे ज्यादा परेशानी उन प्रसूताओं को होती है जो सात-आठ माह के गर्भ से हैं. ऐसी प्रसूताओं की समय पर जांच नहीं हो पा रही है.

  • Share this:
राजस्थान में बूंदी जिला चिकित्सालय में व्याप्त अव्यवस्थाओं के चलते सोनोग्राफी के लिए आने वाली प्रसूताओं को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा रहा है. जिला चिकित्सालय में संचालित सरकारी सोनोग्राफी जांच केन्द्र पर दिनभर में तीस जांच ही हो पा रही. जबकि यहां सोनोग्राफी जांच के लिए आने वाली महिलाओं की तादाद ज्यादा है. ऐसे में यहां जांच करवाने के लिए आने वाली प्रसूताओं को एक-दो माह बाद की तारीख दी जा रही है.

सबसे ज्यादा परेशानी उन प्रसूताओं को होती है जो सात-आठ माह के गर्भ से हैं. ऐसी प्रसूताओं की समय पर जांच नहीं हो पा रही है. जांच विलंब होने से उन्हें यहां-वहां भटकने को मजबूर होना पड़ रहा है. ऐसा नहीं है कि जांच केंद्र की अव्यवस्थाओं के बारे में किसी को पता न हो,  जिम्मेदार लोगों को जानकारी भी है लेकिन कोई कदम नहीं उठाया जा रहा.

इस संबंध में प्रसूताओं के परिजनों ने कई बार अस्पताल के पीएमओ सहित जिला कलेक्टर को शिकायत भी की है लेकिन कोई स्थायी समाधान नहीं निकल रहा. इस बारे में जब  पीएमओ डॉ.नवनीत विजय से बात की गई तो उन्होंने कहा कि कुछ समय जरूर लग रहा है. पहले अस्पताल के बाहर निजी लैब संचालित थी. उसके बंद होने से सरकारी लैब पर भार पड़ा है.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बूंदी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 13, 2018, 10:28 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर