लाइव टीवी

पेट का स्कैन किया तो दंग रह गए डॉक्टर, सर्जरी कर निकाली लोहे की 116 कीलें व छर्रे

News18 Rajasthan
Updated: May 14, 2019, 4:32 PM IST
पेट का स्कैन किया तो दंग रह गए डॉक्टर, सर्जरी कर निकाली लोहे की 116 कीलें व छर्रे
सांकेतिक तस्वीर

पेट में दर्द के बाद राजस्थान के भोलाशंकर को डॉक्टर के पास ले जाया गया। डॉक्टरों ने जब भोला शंकर के पेट का स्कैन किया तो दंग रह गए। उसके पेट में कीलें, छर्रे और तार नजर आए।

  • Share this:
राजस्थान के बूंदी जिले में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. यहां एक व्यक्ति की सर्जरी के बाद डॉक्टरों ने उसके पेट से 116 लोहे की कीलें, लोहे के छर्रे और लोहे के तार निकाले हैं. सोमवार को किए गए सफलतापूर्वक ऑपरेशन के बाद व्यक्ति अब पूरी तरह से स्वस्थ है.

डॉक्टरों ने बताया कि मरीज का नाम भोला शंकर है, जिसकी उम्र 42 वर्ष है और वह मानसिक रूप से विक्षिप्त है. आखिर उसके पेट में लोहे की कीलें, छर्रे और तार कैसे आईं, इस बारे में मरीज कुछ नहीं बता पा रहा है. हालांकि डॉक्टरों का कहना है कि भोला शंकर को लोहे का सामान खाने की आदत है जिसकी वजह से इन सामानों को अक्सर निगल जाया करता है.

भोला शंकर के पिता मदनलाल ने बताया कि 20 साल पहले उनका बेटा बागवानी करता था, लेकिन वह मानसिक रूप से विक्षिप्त हो गया. इसके बाद उसने काम छोड़ दिया. इस दौरान एक दिन भोला के पेट में तेज दर्द उठा और वे उसे डॉक्टर के पास लेकर गए. डॉक्टरों ने जब भोला शंकर के पेट का स्कैन किया तो वे दंग रह गए. उसके पेट में कीलें, छर्रे और तार नजर आईं.

टीम में शामिल जिला अस्पताल के डॉ. अनिल सैनी ने बताया कि कि भोला के पेट में कीलें, छर्रे और तार दूसरी बार कराए गए डिजिटल एक्सरे में साफ नजर आए। सीटी स्कैन में उसके पेट में कीलें दिखीं। डॉक्टरों ने उसे तुरंत सर्जरी कराने की सलाह दी।

डॉ. अनिल ने बताया कि भोला की लगभग डेढ़ घंटे तक सर्जरी चली और इस दौरान उसके पेट से लोहे का सारा सामान बाहर निकाला गया। डॉक्टरों ने बताया कि भोला के पेट से निकाली गई हर एक कील की लंबाई 6.5 इंच है।

ये भी पढ़ें:- पीड़ित दंपति ने कहा- ऐसी जगह भेज दो, जहां कोई नहीं पहचाने 

ये भी पढ़ें:-  शादी के पंडाल में हर तरफ लगाईं प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीरे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बूंदी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 14, 2019, 4:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...