लाइव टीवी
Elec-widget

बिहार के ठग ने बूंदी MLA को फोन कर 20.60 लाख रुपए ठगे, पढ़ें- मिट्‌टी डलवाने के नाम कैसे हुई ठगी?

Chain Singh Tanwar | News18 Rajasthan
Updated: October 8, 2019, 11:56 AM IST
बिहार के ठग ने बूंदी MLA को फोन कर 20.60 लाख रुपए ठगे, पढ़ें- मिट्‌टी डलवाने के नाम कैसे हुई ठगी?
रेलवे का टेंडर दिलाने के नाम पर 20 लाख रुपए की ठगी को अंजाम दिया गया.

बिहार (Bihar) के एक शातिर ठग (Thug) ने वरिष्ठ आईएएस (Fake IAS officer) और रेलवे सेक्रेटरी (Railway Secretary) बन कर राजस्थान (Rajasthan) के बूंदी विधायक अशोक डोगरा (Bundi MLA Ashok Dogara) को फोर किया. एमएलए के जरिए नगरपरिषद के ठेकेदार (Contractors) को रेलवे का टेंडर (Railway Tenders) दिलाने के नाम पर 20 लाख रुपए की ठगी को अंजाम दिया.

  • Share this:
बूंदी. राजस्थान (Rajasthan) के बूंदी विधायक अशोक डोगरा (Bundi MLA Ashok Dogara) को फोर पर वरिष्ठ आईएएस (Fake IAS officer) और रेलवे सेक्रेटरी (Railway Secretary) बन कर बिहार (Bihar) के एक शातिर ठग (Thug) ने 20 लाख रुपए की ठगी को अंजाम देने का मामला सामने आया है. खुद को आईएएस अफसर बताने वाले ठगों के नाम अमिताभ उर्फ अभिषेक सिन्हा बताया जा रहा है. इस ठग ने विधायक को फोन करके रेलवे के टेंडर (Railway Tenders) दिलाने की बात कही और उनके जरिए नगरपरिषद के ठेकेदार (Contractors) अशोक चौधरी और उसके पार्टनर से सम्पर्क किया. वर्क ऑर्डर दिलाने के नाम पर 20 लाख 60 हजार रुपए अपने खाते में भी डलवा लिए लेकिन न वर्क ऑर्डर मिला और रुपए ट्रांसफर होने के बाद न ठग ही मिले. दोनों ठग बूंदी आने की बात कहते हुए पीड़ित पक्ष को टालते रहे. इसके बाद जब ठेकेदारों को अपने साथ ठगी का एहसास हुआ तो उन्होंने पुलिस की मदद ली. इस मामले में कोतवाली थाने में ठगी का मुकदमा दर्ज किया गया है.
पुलिस ने बचाए 11 लाख 13 हजार रुपए
कोतवाली थानाधिकारी घनश्याम मीणा के अनुसार पटना (बिहार) निवासी अमिताभ उर्फ अभिषेक सिन्हा नाम के शातिर ठग ने 6 अप्रैल को नगरपरिषद ठेकेदार से रेलवे टेंडर के नाम पर 20 लाख 60 हजार रुपए अपने खाते में ट्रांसफर करवाए थे. थाने में ठगी का मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने आरोपी ठग के बैंक खाते का पता कर उसमें जमा 11 लाख 13 हजार रुपए का ट्रांजेक्शन रुकवा दिया. फिलहाल, मामले की जांच जारी है लेकिन आरोपी पुलिस की पकड़ से अब भी दूर है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का इस्तेमाल

जानकारी के अनुसार 5 अप्रैल 2019 को पटना (बिहार) निवासी अमिताभ सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का इस्तेमाल कर खुद को वरिष्ठ आईएएस और रेलवे सेक्रेटरी बताते हुए विधायक अशोक डोगरा को रेल्वे में टेंडर दिलाने के लिए फोन किया. इसके बाद उनके जान पहचान के नगर परिषद ठेकेदार अशोक चौधरी और उसके पार्टनर को बूंदी रेलवे स्टेशन से श्रीनगर रेलवे स्टेशन के बीच मिटटी डलवाने का वर्क ऑर्डर देने के नाम पर 20 लाख 60 हजार रुपए की राशि अपने खाते में डलवा कर ठगी का शिकार बना दिया.
दूसरे नहीं आए बूंदी तो ठेकेदार थाने पहुंचे
कथित वरिष्ठ आईएएस अधिकारी और रेलवे सेक्रेटरी अमिताभ सिन्हा द्वारा वर्कऑर्डर देने के लिए 6 अप्रैल को बूंदी आने की बात कही थी. 6 अप्रैल को जब ठग ने इधर-उघर के बहाने बनाए और 6 अप्रैल शाम तक बूंदी नहीं पहुंचा तो पीड़ित ठेकेदार हरकत में आए. ठेकेदार अशोक चौधरी ने कोतवाली थाने में आकर आरोपी ठग के विरुद्ध धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करवाया.
Loading...

पुलिस की पकड़ से दूर, वकील को किया आगे
इस मामले की जांच एसआई समजीदा बानो द्वारा की जा रही है. पुलिस जांच में आरोपी ठग अक्सर घर से फरार रहता है. पटना में उसने अपने एक वकील को आगे कर रखा है जो उसकी तरफ से दलील देता रहता है.
पीड़ित पक्ष को बिहार के दो लोगों ने फोन कर रेलवे का टेंडर दिलाने के नाम पर 20 लाख 60 रुपए की ठगी के इस ममाले में अनुसंधान जारी है. 11 लाख 13 हजार का बैंक ट्रांजेक्शन रुकवा में सफल रहे हैं.
घनश्याम मीणा, थानाप्रभारी पुलिस थाना, कोतवाली बूंदी


ये भी पढ़ें-

दशहरें के पहले दिन बारिश से जयपुर का 'रावण' कारोबार तबाह, मदद मांगने पर मजबूर हुए कलाका
13 दिन के जुड़वा बच्चों को दुर्लभ बीमारी से मिली निजात,पढ़ें- कोटा में देश पहला केस!

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 8, 2019, 11:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...