• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan News: कांग्रेस कार्यकर्ता बोले-कलेक्टर को नहीं हटाया तो प्रभारी मंत्री को बूंदी में नहीं घुसने देंगे

Rajasthan News: कांग्रेस कार्यकर्ता बोले-कलेक्टर को नहीं हटाया तो प्रभारी मंत्री को बूंदी में नहीं घुसने देंगे

बूंदी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रभारी मंत्री के सामने जमकर हंगामा किया

Congress workers protest : बूंदी जिले के दौरे पर आए जिला प्रभारी मंत्री परसादी लाल मीणा को कांग्रेस कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ा. कार्यकर्ता कलेक्टर को हटाने की मांग कर रहे थे.

  • Share this:
बूंदी. कांग्रेस राज (Congress government) में भी कार्यकर्ताओं की सुनवाई न होने से नाराज कांग्रेस कार्यकर्ताओं (Congress workers) ने जिले के प्रभारी मंत्री परसादी लाल मीणा (Parsadi Lal Meena) के सामने हंगामा किया. कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी कर बूंदी कलक्टर (collector) को हटाने की मांग की. उनका आरोप था कि कांग्रेस राज में भी कार्यकर्ताओं की जनता की सुनवाई नहीं हो रही है.

सर्किट हाउस में मंत्री के जन सुनवाई कार्यक्रम के दौरान कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी शुरू कर दी. उनका कहना था कि यदि जनता की सुनवाई नहीं होगी तो वे कहां जाएं ? कलेक्टर ही जब कार्यकर्ताओं की नहीं सुनते हैं तो इससे वे आहत होते हैं. हंगामा होते देख प्रभारी मंत्री जनसुनवाई बीच में ही छोड़कर कमरे में चले गए. उनके पीछे भी कार्यकर्ता कलेक्टर के खिलाफ नारेबाजी करते रहे.

कलेक्टर की कार्यशैली की शिकायत
कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ ही संयुक्त व्यापार संघ के पदाधिकारियों ने भी कलेक्टर की कार्यशैली की शिकायत प्रभारी मंत्री से की. नारेबाजी और हंगामे के बीच एसपी शिवराज मीणा और अन्य अधिकारियों ने कार्यकर्ताओं को समझाने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने. कार्यकर्ता इसलिए भी नहीं माने क्योंकि प्रभारी मंत्री ने कलेक्टर के तबादले की मांग पर गौर नहीं किया. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उन्हें बूंदी नहीं आने की भी बात कही।

गुटबाजी न होगी तो पार्टी मजबूत कैसे होगी
बाद में प्रभारी मंत्री ने मीडिया से कहा कि कांग्रेस में गुटबाजी तो नेहरू के जमाने से है. गुटबाजी नहीं होगी तो कांग्रेस मजबूत कैसे होगी. हालांकि उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा उनका विरोध किए जाने की घटना से साफ इनकार कर दिया. इससे पहले कांग्रेस शहर अध्यक्ष देवराज गोचर ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं की समस्याएं नहीं सुनीं गई और कलेक्टर को नहीं हटाया गया तो कार्यकर्ता प्रभारी मंत्री को बूंदी में नहीं घुसने देंगे.

कलेक्टर का तबादला मेरा काम नहीं
कार्यकर्ताओं के प्रभारी मंत्री को जिले में घुसने देने के सवाल पर मीणा ने कहा तो दूसरे जिले में चले जाएंगे. प्रभारी मंत्री के दो ही काम होते हैं. जिला कांग्रेस की बैठक में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बात सुनना और राज्य सरकार की योजनाओं की समीक्षा करना. जिला कांग्रेस की बैठक बुलाएंगे तब कार्यकर्ताओं की भी सुन लेंगे. कलेक्टर के तबादले पर उन्होंने कहा कि यह उनका काम नहीं है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज