लाइव टीवी

पाक की जेल से 6 साल बाद बूंदी लौटा जुगराज, यातना के कारण अब भी सदमे में

News18 Rajasthan
Updated: May 7, 2019, 6:18 PM IST
पाक की जेल से 6 साल बाद बूंदी लौटा जुगराज, यातना के कारण अब भी सदमे में
सांकेतिक तस्वीर

भूलवश पाकिस्तान की सीमा में प्रवेश कर जाने वाला बूंदी का युवक जुगराज कराची जेल में 6 साल रहने के बाद बूंदी अपने गांव लौट आया है लेकिन जेल में दी गई यातना के कारण वह सदमे में है कई रिश्तेदारों को पहचान भी नहीं पा रहा है.

  • Share this:
बूंदी के रामपुरिया गांव का युवक जुगराज भील छह साल पहले जैसलमेर के रास्ते भटक कर पाकिस्तान की सीमा में चला गया था. वहां उसे जेल में डाल दिया गया था. पिछले साल सचिन पायलट ने इसकी जानकारी होने पर विदेश मंत्रालय को पत्र लिखा था. उसके बाद भारत सरकार की ओर से पाकिस्तान से उसे लौटाने की  मांग की गई. वाघा सीमा पर पाकिस्तानी सेना ने उसे रेड क्रॉस और भारतीय अधिकारियों को सौंप दिया है. उसके गांव में तो उसके लौटने से खुशी का महौल है लेकिन वह पाकिस्तान की कराची जेल में मिली यातना के कारण सदमे में है कि वह अपने कई परिजनों को पहचान भी नहीं पा रहा है. जुगराज के कान का एक हिस्सा कटा हुआ है.

उसे अभी शारीरिक और मानसिक यातना से उबरने में समय लगेगा. पता चला कि वहां उसे ट्रेन में बिना टिकट यात्रा के जुर्म में जेल में डाला गया था. उन यातनाओं से अनजान उसकी मां उस बात को लेकर बहुत खुश है कि उसके बेटे को पाकिस्तान ने जिंदा लौटा दिया है. उसके पिता तो खुशी से कुछ बोल भी नहीं पा रहे हैं.

ये भी पढ़ें-
पाकिस्तान की जेल में बंद बूंदी के जुगराज भील की 6 साल बाद होगी वतन वापसी


पाकिस्तानी जेल में बंद युवक जुगराज भील पहुंचा बूंदी, याद आई बचपन की बातें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बूंदी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 7, 2019, 6:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...