होम /न्यूज /राजस्थान /राजस्थान: बूंदी का खेरुणा गांव है अपने आप में अनूठा, स्वच्छता में बना चुका है राष्ट्रीय पहचान

राजस्थान: बूंदी का खेरुणा गांव है अपने आप में अनूठा, स्वच्छता में बना चुका है राष्ट्रीय पहचान

स्वच्छता का प्रतीक बन चुका  बूंदी जिले का खेरुणा गांव जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित अरावली पर्वत श्रृंखला की तलहटी में बसा है. (सांकेतिक तस्वीर)

स्वच्छता का प्रतीक बन चुका बूंदी जिले का खेरुणा गांव जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित अरावली पर्वत श्रृंखला की तलहटी में बसा है. (सांकेतिक तस्वीर)

Swachh Bharat Mission: राजस्थान के बूंदी जिले की रामनगर ग्राम पंचायत के खेरुणा गांव (Kheruna village) ने अपनी राष्ट्रीय ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

बूंदी जिले की रामनगर ग्राम पंचायत का गांव है खेरुणा
स्वच्छ भारत मिशन अभियान के तहत हो चुका है राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित

बूंदी. राजस्थान के बूंदी जिले की रामनगर ग्राम पंचायत का खेरुणा गांव (Kheruna village) अपने आप में अनूठा है. इस गांव का पिछले दिनों ‘स्वच्छ भारत मिशन’ (Swachh Bharat Mission) के तहत भारत सरकार के राष्ट्रीय अवार्ड के लिए चयन किया था. इस गांव को ठोस और तरल कचरा प्रबंधन के श्रेष्ठ कार्यों के चलते यह अवॉर्ड दिया गया. रामनगर ग्राम पंचायत का खेरुणा गांव प्रदेश का पहला मॉडल ओडीएफ प्लस गांव घोषित किया गया था. यह गांव बूंदी जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित अरावली पर्वत श्रृंखला की तलहटी में बसा है.

गांव की कुल आबादी 1089 लोगों की है. माली समाज बाहुल्य खेरुणा गांव स्वच्छ भारत मिशन की 6 बिन्दुओं के आधार पर तैयार की गई केटेगरी में सभी मापदंडों को पूरा करता है. इसके चलते गांधी जयंती पर स्वच्छ भारत दिवस के उपलक्ष्य में दिल्ली में आयोजित समारोह में राष्ट्रपति द्वारा गांव का अवॉर्ड प्रदान किया गया. गांव में लोगों को अपनी इस उपलब्धि पर नाज है.

ग्रामीणों ने प्रशासन की बात को बेदह गंभीरता से लिया
स्वच्छ भारत मिशन अभियान के तहत गांव को मॉडल ओडीएफ प्लस बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले ग्राम पंचायत के विकास अधिकारी राजेन्द्र वर्मा का कहना है कि पहले खेरुणा गांव में जगह जगह गंदगी का अंबार था. उसके बाद 18 मार्च 2021 को जिला प्रशासन द्वारा जिला स्तरीय समारोह का आयोजन कर यहां के ग्रामीणों से गांव को साफ और स्वच्छ बनाने के लिए समझाइस की गई थी. ग्रामीणों ने इसे बेहद गंभीरता से लिया और साफ सफाई में जुट गए.

दो और गांवों को मॉडल बनाने के प्रयास चल रहे हैं
उसके बाद गांव के लोगों से मिले सहयोग के चलते पूरा गांव साफ किया गया. यहां के पार्कों में सुधारा गया. इससे वहां हरियाली नजर आने लगी. वहीं दूसरी तरफ स्वच्छ भारत मिशन के तहत प्रशासन द्वारा किये गये प्रयासों को गति मिलने खेरुणा गांव आज अपनी अलग पहचान बना पाया है. जिला कलक्टर डॉ. रविन्द्र गोस्वामी स्वच्छता के प्रति जिले के लोगों में धीरे धीरे आ रही जागरुकता से काफी खुश हैं. अब खेरुणा के अतिरिक्त हिण्डोली ब्लॉक के ठीकरदा और नैनवा ब्लॉक के बांसी ग्राम पंचायत को भी मॉडल ओडीएफ प्लस बनाने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं.

Tags: Bundi, Rajasthan news, Swachh Bharat Mission, Swachhta Abhiyaan

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें