• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan: खाप पंचायत का तुगलकी फरमान, कब्‍जे की शिकायत पर 5 परिवारों का हुक्का-पानी किया बंद

Rajasthan: खाप पंचायत का तुगलकी फरमान, कब्‍जे की शिकायत पर 5 परिवारों का हुक्का-पानी किया बंद

बसोली थानाप्रभारी भंवरसिंह राणावत दोनों पक्षों के लोगों से समझाइश कर मामले को शांत करवाने के प्रयास करने में जुटे हैं.

बसोली थानाप्रभारी भंवरसिंह राणावत दोनों पक्षों के लोगों से समझाइश कर मामले को शांत करवाने के प्रयास करने में जुटे हैं.

राजस्थान के बूंदी जिले (Bundi District) में खाप पंचायत का क्रूर चेहरा सामने आया है. खाप पंचायत (Khap panchayat) ने दबंगों की शिकायत करने वाले 5 परिवारों को समाज से बहिष्कृत कर दिया है.

  • Share this:
बूंदी. राजस्थान में खाप पंचायतों (Khap Panchayat) की मनमानी पर रोक नहीं लग पा रही है. खाप पंचायतें अपने तुगलकी फरमानों से जमकर अत्याचार का चाबुक चला रही हैं. ताजा मामला बूंदी जिले (Bundi district) में सामने आया है, जहां दबंगों द्वारा सरकारी भूमि पर किये जा रहे अतिक्रमण की शिकायत पुलिस से करना 5 लोगों को भारी पड़ गया. दबंगों ने 12 गांवों की खाप पंचायतों को बुलाकर शिकायत करने वाले 5 परिवारों को समाज से बहिष्कृत कर उनका हुक्का-पानी बंद करवा दिया. इसके साथ ही यह फरमान भी सुना दिया गया कि अगर कोई पंचायत के फैसले के खिलाफ जायेगा तो उसे 51 हजार रुपये का जुर्माना भरना पड़ेगा.

जानकारी के अनुसार, मामला बूंदी जिले के बसोली थाना क्षेत्र के बहादुरपुरा गांव से जुड़ा है. पिछले दिनों गांव में स्थित तलाई की 32 बीघा चरागाह भूमि पर गांव के दबंग 6 परिवारों ने कब्जा कर लिया था. इस पर गांव के ही 5 अन्य परिवारों ने इसकी शिकायत बसोली थाना पुलिस और हिंडोली उपखंड अधिकारी से कर दी. शिकायत करने की जानकारी जैसे ही कब्जा करने वाले दबंगों को लगी तो उन्होंने शुक्रवार को आसपास के 12 गांव की खाप पंचायत बुला ली. पंचायत में मौजूद पंच-पटेलों ने शिकायतकर्ता जगदीश, छितर, मोडू, सुखदेव, राधाकिशन और अन्य के परिवारों को समाज से बहिष्कृत कर उनका हुक्का पानी बंद करने का तुगलकी फरमान सुना दिया.

Rajasthan: खाप ने महिला पर लगाया अवैध संबंधों का आरोप, सबके सामने निर्वस्त्र कर नहलाया

किसी का पानी तक नहीं पी सकते
पीड़ित परिवार के सदस्यों ने बताया कि इस बात को लेकर वे कई बार बसोली थाने पर गए, लेकिन वहां भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है. पीड़ितों के अनुसार, वे न तो दूसरे गांव में जा सकते हैं और न किसी का पानी पी सकते हैं. दूसरी तरफ, गांव में पांच परिवारों को समाज से बहिष्कृत करने की सूचना पाकर मौके पर पहुचे बसोली थानाप्रभारी भंवर सिंह राणावत दोनों पक्षों के लोगों से समझाइश कर मामले को शांत करवाने के प्रयास करने में जुटे हैं. राणावत के अनुसार ये प्रयास सफल नहीं होने पर दबंगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज