होम /न्यूज /राजस्थान /इस पेट्रोल पंप पर कर्मचारी नहीं कैदी रहेंगे तैनात, घबराएं नहीं इत्मिनान से टैंक फुल करवाएं

इस पेट्रोल पंप पर कर्मचारी नहीं कैदी रहेंगे तैनात, घबराएं नहीं इत्मिनान से टैंक फुल करवाएं

राजस्थान के कोटा सेट्रल जेल के पास इंडियल ऑयल कॉरपोरेशन का पेट्रोल पंप तैयार किया जा रहा है.

राजस्थान के कोटा सेट्रल जेल के पास इंडियल ऑयल कॉरपोरेशन का पेट्रोल पंप तैयार किया जा रहा है.

Positive Story. कोटा सेंट्रल जेल के पास कैदियों के हित में एक नई पहल की शुरुआत की जा रही है. यहां सेंट्रल जेल के पास बा ...अधिक पढ़ें

कोटा. अब तक आपने कैदियों को जेलों में देखा होगा, लेकिन कोटा में सेंट्रल जेल (Central Jail Kota) के पास एक ऐसा पेट्रोल पंप तैयार हो रहा है जहां कैदी ही पेट्रोल और डीजल भरते नजर आएंगे. शहर के मुख्य बारां रोड पर सेंट्रल जेल के पास इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (Indian Oil Corporation) के खर्च पर यह पेट्रोल पंप बनाया जा रहा है. चंद दिनों बाद ही यह तैयार हो जाएगा और उसके बाद तीन मशीनें लगाई जाएंगी. इनके जरिए डीजल और पेट्रोल की बिक्री होगी. पेट्रोल और डीजल की बिक्री से लाखों रुपए आमदनी होगी इसे जेल और कैदियों के हित के उपयोग में लिया जाएगा.

जेल अधीक्षक पीएस सिद्धू ने बताया कि जेल के पास ही कोटा जेल प्रशासन के पास खूबसूरत लोकेशन में बेशकीमती जमीन है, जो लंबे समय से अनुपयोगी ही थी. अब इस भूमि का बेहतर उपयोग कर जेल विभाग को फायदा मिलेगा. इसी उद्देश्य को लेकर पेट्रोल पंप का निर्माण किया जा रहा है. यहां कैदी ही पेट्रोल पंप के कर्मचारी होंगे. एक तरफ बेशकीमती जमीन का उपयोग हो जाएगा और जेल प्रशासन को इसका फायदा मिलेगा. वही कैदियों के भी जीवन स्तर को सुधारने का यह अनूठा कदम माना जा रहा है.

सेंट्रल जेल के कैदी होंगे पेट्रोल पंप का स्टाफ 
हालांकि पेट्रोल पंप का संचालन कोटा की खुली जेल के बंदी ही कर पाएंगे. इसके लिए इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड की ओर से कैदियों को ट्रेनिंग भी दी जाएगी. बंदी पूरी तरह से ट्रेनिंग लेने के बाद पेट्रोल पंप पर काम करेंगे. खुली जेल में करीब 6 दर्जन से अधिक बंदी हैं. ऐसे में पेट्रोल पंप पर एक दर्जन लोगों का स्टाफ रखा जाएगा उसका चयन इन्ही कैदियों में से किया जाएगा. वहीं ट्रेनिंग लेने वाले कैदी के की जब सजा पूरी हो जाएगी. उसके बाद वे अपने इलाके में पेट्रोल पंप पर जाकर काम कर सकेंगे.

रोजगार के नजरिए से सराहनीय कदम 
प्रशासन का यह कदम सराहनीय है. इसके जरिए कैदियों की अपराधी प्रवृत्ति में सुधारने में काफी मदद मिलेगी. इसके साथ ही कैदियों को पेट्रोल पंप पर काम करने का नया स्किल भी मिल जाएगा. इससे कैदी जेल से बाहर जाने के बाद रोजगार कमाने के लिए पेट्रोल पंप पर काम कर सकते हैं. इसके साथ ही जुर्म का रास्ता छोड़कर एक आम इंसान का जीवन जी सकेंगे. इस फैसले को कैदियों के जीवन स्तर में सुधार लाने के बेहतरीन कदम के रूप में सराहा जा सकता है.

Tags: Kota news, Kota news updates, Rajasthan latest news, Rajasthan news, Rajasthan news in hindi, Rajasthan News Update

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें