लाइव टीवी

अपनी हिम्‍मत और जज्‍बे से राजस्‍थान की तकदीर बदल रहीं ये महिलाएं

Pradesh18
Updated: September 25, 2016, 7:40 PM IST
अपनी हिम्‍मत और जज्‍बे से राजस्‍थान की तकदीर बदल रहीं ये महिलाएं
मंत्री अनिता भदेल.

प्रदेश की आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से शून्य से छह वर्ष तक के नन्हे मुन्हे बच्चों को पोषण, स्वास्थ्य एवं शिक्षा की सेवाएं और अधिक बेहतर एवं प्रभावी करने के लिए आंगनबाड़ी केन्द्रों पर अनेक प्रकार के नवीन गतिविधियां संचालित की जा रही है.

  • Pradesh18
  • Last Updated: September 25, 2016, 7:40 PM IST
  • Share this:
समेकित बाल विकास सेवाएं कार्यक्रम के तहत प्रदेश की आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से शून्य से छह वर्ष तक के नन्हे मुन्हे बच्चों को पोषण, स्वास्थ्य एवं शिक्षा की सेवाएं और अधिक बेहतर एवं प्रभावी करने के लिए आंगनबाड़ी केन्द्रों पर अनेक प्रकार के नवाचार व नवीन गतिविधियां संचालित की जा रही है.

नवाचार और नवीन गतिविधियों से एक और बच्चों को बेहतर सेवाएं मिल रही हैं. वहीं दूसरी और आंगनबाड़ी केन्द्रों की तस्वीर भी बदल रही हैं. महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिता भदेल ने बताया कि नन्हे-मुन्हे बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए प्रदेश कि आंगनबाड़ी केन्द्रों को सीखने और खेलने के केन्द्र के रूप में विकसित किया जाएगा.

उन्होंने बताया कि आंगनबाड़ी केन्द्रों पर शाला पूर्व शिक्षा के लिए लाभार्थियों की संख्या में वृद्धि करने एवं जनसमुदाय को इस संबंध में जागरुक करने के लिए प्रदेश भर के आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आंगनबाड़ी चलो अभियान के तहत प्रवेशोत्सव खिलौना बैंक एवं शिक्षण सामग्री बैंक की स्थापना की गई.

उन्होंने बताया कि आंगनबाड़ी चलो अभियान से एक और आंगनबाड़ी केन्द्र या आने वाले नन्हे-मुन्हें बच्चों की संख्या में वृद्धी हुई, वहीं दूसरी और केन्द्रों के प्रति समाज की जागरूकता और भागीदारी भी बढ़ी. भदेल ने बताया कि आंगनबाड़ी चलो अभियान के तहत जहां आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका व आशा-सहायोगिनी द्वारा घर-घर संपर्क कर बच्चों का आंगनबाड़ी केन्द्र पर पंजीयन कराने के लिए अभिभावकों को प्रेरित किया, वहीं आंगनबाड़ी केन्द्र की गतिविधियों के संबंध में जनसमुदाय कि भागीदारी बढ़ाने के लिए आंगनबाड़ी स्तरीय समीति की बैठक भी आयोजित की गई.

उन्होंने बताया कि आंगनबाड़ी केन्द्रों पर प्रवेशोत्वक मनाया जाने से तीन लाख नएं बच्चे जुड़े इससे समेकित बाल विकास सेवा कार्यक्रम के तहत प्रदेश में लाभांवित बच्चों की संख्या बढ़कर 15 लाख तक पहुंच गई.

भदेल ने बताया प्रदेशभर कि आंगनबाड़ी केन्द्रों पर कि गई नवीन गतिविधियों में अजमेर जिले से वीडियों कॉन्फ्रेस के माध्यम से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने खिलौना बैंक स्थापना की. इस कार्यक्रम के तहत प्रदेश के सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों पर विभाग व जन सहयोग से 15 लाख 36 हजार खिलौने प्राप्त हुए.

उन्होंने बताया कि इन खिलौनो से जहां एक और आंगनबाड़ी केन्द्रों पर शाला पूर्व शिक्षा प्राप्त करने वाले बच्चों के लिए आंगनबाड़ी चलो अभियान के तहत जनसहयोग से 8 लाख पुस्तकें व 28 लाख कॉपियां, पेंसिल, रबर इत्यादी प्राप्त हुए.उन्होंने बताया कि प्रदेश की सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों पर पहली बार सधन पौधारोपण कार्यक्रम के तहत 2 लाख पौधे लगाए गए. पौधारोपण कार्यक्रम से एक ओर जहां आंगनबाड़ी केन्द्रों का वातावरण स्वस्थ व स्वच्छ होगा वहीं दूसरी ओर आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आने वाले बच्चों मे प्रकृति के प्रति लगाव भी पैदा होगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चित्तौड़गढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 25, 2016, 6:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर