लाइव टीवी

महारानी पद्मिनी को अलाउद्दीन की प्रेमिका बताने के मामले पर कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

PK Agarwal | ETV Rajasthan
Updated: July 29, 2016, 4:30 PM IST
महारानी पद्मिनी को अलाउद्दीन की प्रेमिका बताने के मामले पर कांग्रेस ने किया प्रदर्शन
कांग्रेस ने भी पूर्व विधायक सुरेन्द्र सिंह जाड़ावत के नेतृत्व मे चित्तौड़गढ़ कलेक्ट्रेट पर जमकर प्रदर्शन किया. फोटो-(ईटीवी)

आन-बान और शान की खातिर सैकड़ों वीरांगनाओं के साथ जौहर करने वाली मेवाड़ की महारानी पद्मिनी के सम्मान के साथ राजस्थान पर्यटन विभाग की ओर से खिलवाड़ करने का मामला गरमा गया है.

  • Share this:
आन-बान और शान की खातिर सैकड़ों वीरांगनाओं के साथ जौहर करने वाली मेवाड़ की महारानी पद्मिनी के सम्मान के साथ राजस्थान पर्यटन विभाग की ओर से खिलवाड़ करने का मामला गरमा गया है.

विभाग के ट्विटर अकाउंट पर पद्मिनी को अलाउद्दीन खिलजी की प्रेमिका बताने का पता चलने पर कई सामाजिक संगठनों और नागरिकों में जोरदार आक्रोश फैल गया.

इसी कड़ी में शुक्रवार को कांग्रेस ने भी पूर्व विधायक सुरेन्द्र सिंह जाड़ावत के नेतृत्व मे कलेक्ट्रेट पर जमकर प्रदर्शन किया और राज्यपाल के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा.

इधर, सांसद चंद्रप्रकाश जोशी और चित्तौड़गढ़ जिले के सभी विधायकों ने भी विरोध में सुर ऊंचा कर दिया है. राजस्थान पर्यटन की ओर से गत दिनों ट्विटर अकाउंट पर पद्मिनी महल की फोटो पोस्ट की गई. इस पर अंग्रेजी में लिखा था, 'अलाउद्दीन खिलजी ने यहां अपनी प्रेमिका का प्रतिबिंब देखा और सम्मोहित हो गया. इसके बाद वह उसे ले जाने के लिए ही सेना लेकर आ गया'.

इस पोस्ट ने लोगों में बवाल मचा दिया. मेवाड़ क्षत्रीय महासभा चित्तौडग़ढ़ और जौहर स्मृति संस्थान चित्तौडग़ढ़ ने इस पोस्ट के विरोध में राजपूत समाज की ओर से सड़क पर उतरने और पोस्ट को जल्द नहीं हटवाने पर आंदोलन की चेतावनी दी है.

कांग्रेस के पूर्व विधायक सुरेन्द्रसिंह जाड़ावत ने कहा कि पद्मिनी को खिलजी की प्रेमिका बता भ्रम फैलाना इतिहास, संस्कृति व समाज के साथ खिलवाड़ है. एक तरफ इतिहास के साथ छेड़छाड़ और इतिहास से गलत तथ्य हटाने का दावा करने वाली राज्य सरकार द्वारा ही ऐसा गलत प्रचार करना दुर्भाग्यपूर्ण है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चित्तौड़गढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 29, 2016, 4:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर