लाइव टीवी

स्कूल के पीछे कचरे के ढेर में मिलीं लाखों रुपए की आयरन और फोलिक एसिड की दवाइयां

ETV Rajasthan
Updated: August 15, 2016, 6:55 PM IST
स्कूल के पीछे कचरे के ढेर में मिलीं लाखों रुपए की आयरन और फोलिक एसिड की दवाइयां
राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के पीछे मिलीं कचरे के ढेर में आयरन और फोलिक एसिड की एक्सपायर्ड दवाइयां. फोटो-(ईटीवी)

प्रतापगढ़ जिला मुख्यालय स्थित जिले के सबसे बड़े राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय यानि हाई सेकंडरी स्कूल से घटिया तस्वीर निकल करसामने आई है.

  • Share this:
प्रतापगढ़ जिला मुख्यालय स्थित जिले के सबसे बड़े राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय यानि हाई सेकंडरी स्कूल से घटिया तस्वीर निकल करसामने आई है.

स्कूल के पीछे कचरे के ढेर में आयरन और फोलिक एसिड की एक्सपायर्ड दवाइयां पाई गई हैं. जानकारी लेने पर पता चला कि पिछले साल में 3 लाख 60 हजार गोलियों का वितरण 27 स्कूलों तक किया जाना था, जो नहीं किया गया और गोलियों को फिर कचरे में फेंक दिया.

इसके अलावा कचरे के ढेर में बच्चों के प्रोजेक्ट भी पड़े मिले. यहां हमें रीना जैन नाम की एक बालिका का गणित का प्रोजेक्ट कचरे में पड़ा मिला, जो उसने कड़ी मेहनत कर स्कूल में फाइल किया था.

इसके अलावा यहां छात्रों के राशन कार्ड वाले आवेदन मिले, जिसमें उनकी फोटो थी. सारी जानकारी थी. ऐसे में सवाल ये कि स्कूल पर कार्रवाई होगी?

गौरतलब है कि स्कूल में जनजाति विकास मंत्री नंदलाल मीणा की बेटी खुद प्रधानाचार्य है फिर भी हाल ऐसे ही है. कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष उदयलाल अंजना ने भी इस मामले में प्रतिक्रिया दी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चित्तौड़गढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 15, 2016, 6:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर