Chittorgarh: पाली के हिस्ट्रीशीटर ने SP बनकर MLA चन्द्रभान आक्या से मांगे 10 लाख रुपए, पकड़ा गया
Chittorgarh News in Hindi

Chittorgarh: पाली के हिस्ट्रीशीटर ने SP बनकर MLA चन्द्रभान आक्या से मांगे 10 लाख रुपए, पकड़ा गया
हिस्ट्रीशीटर के खिलाफ पूर्व में भी विभिन्न थानों में ठगी और अन्य अपराधों से जुड़े 47 प्रकरण दर्ज हैं.

पाली (Pali) जिले के एक कुख्यात हिस्ट्रीशीटर ने चित्तौड़गढ़ पुलिस अधीक्षक बनकर वहां के विधायक चन्द्रभान आक्या (Chandrabhan Aakya) से 10 लाख रुपए की ठगी करने का प्रयास किया. लेकिन विधायक की सजगता और पुलिस की तत्परता से आरोपी को दबोच लिया गया है.

  • Share this:
चित्तौड़गढ़. पाली (Pali) जिले के एक कुख्यात हिस्ट्रीशीटर ने चित्तौड़गढ़ पुलिस अधीक्षक बनकर वहां के विधायक चन्द्रभान आक्या (Chandrabhan Aakya) से 10 लाख रुपए की ठगी करने का प्रयास किया. लेकिन विधायक की सजगता और पुलिस की तत्परता से आरोपी को दबोच लिया गया है. हिस्ट्रीशीटर पर पहले से ही चार दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं. पूछताछ में उसने ठगी के प्रयास की वारदात कबूल ली है. पुलिस उससे और पूछताछ में जुटी है.

रिश्तेदार के अस्पताल में भर्ती होने के नाम पर मांगे रुपये
पुलिस के अनुसार पकड़ा गया हिस्ट्रीशीटर सुरेश उर्फ भैराराम उर्फ भैरीया घांची पाली जिले के रजतनगर का रहने वाला है. उसने गत दिनों खुद को पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव बताते हुए विधायक चन्द्रभान आक्या से बीमारी के नाम पर 10 लाख रुपए मांगे. उसने विधायक से ये रुपए अपने रिश्तेदार के उदयपुर में अमेरिकन हॉस्पिटल में भर्ती होने का हवाला देकर मांगे. इससे विधायक आक्या ने एकबारगी तो उसके झांसे में आकर रुपयों की व्यवस्था करने की हामी भर ली. लेकिन बाद में उन्होंने एसपी भार्गव को फोन कर इस मामले में पूछताछ तो उन्होंने इससे इनकार किया. इस पर आक्या ने 30 मई को पुलिस थाने में इसकी रिपोर्ट दर्ज कराई.

47 प्रकरण दर्ज हैं हिस्ट्रीशीटर के खिलाफ



पुलिस ने भी तत्परता बरतते हुए मामले की जांच शुरू की. मोबाइल की लोकेशन के अधार पर आरोपी की पहचान कर विशेष पुलिस टीम को पाली भेजा गया. वहां पर पुलिस ने बुधवार को सुरेश उर्फ भैरा राम उर्फ भैरीया दबोच लिया और उसे चित्तौड़गढ़ लेकर आई. पूछताछ में उसने पुलिस अधीक्षक के नाम से ठगी करने का प्रयास करना स्वीकार कर लिया. पुलिस ने घटना में उपयोग में लिया गया मोबाइल बरामद कर लिया है. सुरेश कुख्यात हिस्ट्रीशीटर है. उसके खिलाफ पूर्व में भी विभिन्न थानों में ठगी और अन्य अपराधों से जुड़े 47 प्रकरण दर्ज हैं. वह पहले भी विधायक, मंत्री और अन्य बड़े अधिकारियों के नाम से ठगी कर चुका है. वह पाली कोतवाली थाने का हिस्ट्रीशीटर है.



छा गया निर्मल का निशाना ! मोबाइल के फ्रंट कैमरे से देखकर साधती है उल्टे निशाने

Rajasthan Weather Update: आज कई इलाकों में भयंकर बारिश की चेतावनी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading