Assembly Banner 2021

श्रीराम मंदिर निधि समर्पण अभियान: चित्तौड़गढ़ प्रांत में लोगों ने समर्पित किये 160 करोड़ रुपये

राम मंदिर निर्माण के लिए अब तक करीब 2100 करोड़ रुपये आ चुके हैं.

राम मंदिर निर्माण के लिए अब तक करीब 2100 करोड़ रुपये आ चुके हैं.

Shri Ram Mandir nidhi samarpan abhiyaan: अभियान के तहत चित्तौड़गढ़ प्रांत में 30,88,450 परिवारों से संपर्क किया गया. प्रांत के लोगों ने अपनी क्षमता से बढ़कर मंदिर निर्माण के लिये 160 करोड़ रुपये की राशि समर्पित की है.

  • Share this:
चित्तौड़गढ़. श्रीराम मंदिर निर्माण ((Shri Ram Mandir) के लिये चल रहे निधि समर्पण अभियान (nidhi samarpan abhiyaan) के तहत चित्तौड़गढ़ प्रांत में लोगों ने बड़ी धन राशि भेंट की है. राजस्थान के अकेले चित्तौड़गढ़ प्रांत (Chittorgarh province) से इस महाभियान में 160 करोड़ रुपये की राशि समर्पित की गई है. इसमें सभी वर्गों का सहयोग रहा है.

शहर के विद्या निकेतन में हुये इस महाभियान के समापन समारोह में प्रांत के अभियान प्रमुख कौशल ने बताया कि चित्तौड़ प्रांत के 8 विभाग और 27 जिलों के 154 खंड, 1941 मण्डल, 740 बस्ती, 15302 गांवों के 3088450 परिवारों से संपर्क किया गया. इसके लिये 97734 कार्यकर्ता 18306 टोलियां बनाकर निकले. इनके साथ ही 2580 मातृ शक्ति भी इस कार्य में जुटी रही. करीब डेढ़ माह तक चले इस महाभियान में चित्तौड़गढ़ प्रांत से 160 करोड़ रुपये की निधि का लोगों ने श्रीराम मंदिर के लिये समर्पण किया है.

बालक-बालिकाओं ने भी गुल्लक तोड़कर समर्पित की राशि
कौशल ने कहा कि साधु संतों के आशीर्वाद से मंदिर निर्माण के लिये सभी जाति-बिरादरी, वर्गों और समाजों के लोगों से सहयोग मिला है. इसमें बड़े बुजुर्ग, युवा और छोटे-छोटे बालक-बालिकाओं ने भी अपने गुल्लक तोड़कर श्रीराम मंदिर के लिये राशि का समर्पण किया है. निःशक्तजन हो या दैनिक मजदूरी करने वाले लोग सभी ने अपनी क्षमता के अनुसार इसमें बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है. कौशल ने कहा कि बहुत से अपनी क्षमता से भी अधिक राशि का समर्पण किया है. कई सेवानिवृत्त लोगों ने तो अपने कई-कई महीनों की पेंशन तक समर्पित कर दी.
समारोह में ये भी रहे उपस्थित


समापन समारोह राजस्थान क्षेत्र के क्षेत्रीय प्रचारक निम्बाराम, क्षेत्रीय कार्यवाह हनुमानसिंह राठौड़, चित्तौड़ प्रांत संघचालक जगदीश सिंह राणा और विश्व हिंदू परिषद के प्रांत अध्यक्ष श्यामसुख समेत कई लोग मौजूद रहे. उल्लेखनीय है कि प्रदेश के कई लोगों ने करोड़ों रुपये मंदिर निर्माण के लिये दिये हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज