• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Delhi-Mumbai Expressway से सफर करने से किन-किन शहरों में आवागमन में कम लगेगा समय, जानें

Delhi-Mumbai Expressway से सफर करने से किन-किन शहरों में आवागमन में कम लगेगा समय, जानें

इस एक्‍सप्रेस वे से सफर करने में रोजाना नौ लाख लीटर फ्यूल की होगी बचत. सांकेतिक फोटो

इस एक्‍सप्रेस वे से सफर करने में रोजाना नौ लाख लीटर फ्यूल की होगी बचत. सांकेतिक फोटो

Ministry of Road Transport: दिल्‍ली मुंबई एक्‍सप्रेसवे के तैयार होने के बाद तमाम शहरों के बीच आवागमन में समय कम लगेगा, इसमें जयपुर, उदयपुर, भोपाल, इंदौर, अहमदाबाद जैसे कई प्रमुख शहर शामिल हैं.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. दिल्‍ली-मुंबई एक्‍सप्रेस वे (Delhi Mumbai Expressway) बनने के बाद इससे सफर करने पर एक्‍सप्रेसवे के आसपास के तमाम शहरों के बीच आवागमन में समय कम लगेगा. इस एक्‍सप्रेस वे में दिल्‍ली मुंबई (Delhi Mumbai) के अलावा 9 प्रमुख शहरों के बीच कनेक्टीविटी बेहतर हो जाएगी. एक घंटे से लेकर12 घंटे तक समय की बचेगा. इसके अलावा रोजाना करीब नौ लाख लीटर पेट्रोल की बचत भी होगी.

दिल्‍ली मुंबई एक्‍सप्रेसवे (Delhi Mumbai Expressway) हरियाणा, गुरुग्राम के राजीव चौक से शुरू होकर मेवात, जयपुर कोटा, भोपाल,अहमदाबाद होते हुए मुंबई जाएगा. 1350 किमी लंबे एक्‍सप्रेस वे शुरू होने के बाद रोजाना 8.76 लीटर और सालाना करीब 320 मिलियन लीटर पेट्रोल की बचत होगी. सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) के अनुसार इस एक्‍सप्रेसवे से माल ढुलाई करने पर खर्च कम आएगा. इस तरह एक्‍सप्रेस वे और आसपास पड़ने वाले शहरों में लाजिस्टिक खर्च 8 से 9 फीसदी की बचत होगी.

जरूरत के अनुसार लेन बढ़ाई जा सकती हैं

नेशलन हाईवे अथारिटी आफ इंडिया (National Highway Authority of India) के अनुसार एक्‍सप्रेसवे को इस तरह डिजाइन किया जा है कि जरूरत पड़ने पर आसानी से इसे 8 लेन  से 12 लेन का किया जा सके. इससे दिल्‍ली मुंबई के बीच की दूरी 220 किमी कम हो जाएगी. इसके अलावा 1350 किमी का यह एक्‍सप्रेस वे 20 किमी रिजर्व फारेस्‍ट से जाएगा. यानी पेड़ों को कम से कम काटना पड़ेगा.350 किमी का काम पूरा हो गया है.  825 किमी एक्‍सप्रेस वे का निर्माण चल रहा है.

ये भी पढ़े: - आरटीओ में बगैर टेस्‍ट दिए बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस

सार्वजनिक परिवहन पर निर्भरता कम होगी

सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) के अनुसार दिल्‍ली से मुंबई जाने में चौबीस घंटे के बजाए 12 घंटे ही लगेंगे. इस तरह एक्‍सप्रेस वे से लोग अपने निजी वाहनों से आसानी से जा सकेंगे. इससे न केवल उनका समय बचेगा, बल्कि लोगों की ट्रेनों और फ्लाइट पर से निर्भरता भी कम होगी. राजधानी और शताब्दी को छोड़ दें तो ट्रेनों के जरिये दिल्ली-मुंबई का सफर 20 घंटे से अधिक का है. ऐसे में ट्रेन की बजाय लोग सड़क मार्ग का विकल्प चुन सकेंगे. मौजूदा समय दिल्ली-मुंबई की सड़क से 1450 किलोमीटर की दूरी है. नए एक्सप्रेस-वे से यह दूरी घटकर 1350 रह जाएगी. जनवरी 2023 तक यह एक्‍सप्रेस को तैयार करने का लक्ष्‍य है.  हाल ही में केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) यह घोषणा की है कि मुंबई-दिल्ली एक्सप्रेसवे को जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट (JNPT) तक बढ़ाया जाएगा.

दिल्‍ली से इन शहरों में जाने में लगने वाला समय और दूरी

शहर                             दूरी (किमी)        समय (घंटे में)

दिल्‍ली से जयपुर              285                              1.6

दिल्‍ली से किशनगढ़         390                              1.8

दिल्‍ली से अजमेर             420                              2.0

दिल्‍ली से कोटा               455                              3.5

दिल्‍ली से चितौड़गढ़         580                              3.7

दिल्‍ली से उदयपुर            693                              3.3

दिल्‍ली से भोपाल             700                              6.0

दिल्‍ली से उज्‍जैन             700                              6.4

दिल्‍ली से इंदौर                780                              6.7

दिल्‍ली से अहमदाबाद      900                              8.9

दिल्‍ली से मुंबई                1300                            12.0

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज