Home /News /rajasthan /

Rajasthan के इस जिले में 2 दिन से उड़ रहा हेलिकॉप्टर बना कौतूहल, सामने आई यह बड़ी वजह

Rajasthan के इस जिले में 2 दिन से उड़ रहा हेलिकॉप्टर बना कौतूहल, सामने आई यह बड़ी वजह

Chittorgarh News: खनिज भंडारों का पता लगाने के लिए चित्तौड़गढ़ में हेलीकॉप्टर से हवाई सर्वे.

Chittorgarh News: खनिज भंडारों का पता लगाने के लिए चित्तौड़गढ़ में हेलीकॉप्टर से हवाई सर्वे.

Major uranium deposit found in Rajasthan: राजस्थान (Rajasthan News) के चित्तौड़गढ़ जिले में आसमान में पिछले कुछ दिनों से उड़ता हेलिकॉप्टर लोगों में कौतूहल का विषय बना हुआ है. हेलीकॉप्टर एक जालनुमा चीज लेकर उड़ता दिखाई दे रहा है. यह दिन में तीन बार उड़ान भरता है, अब असली वजह सामने आ गई है. दरसअल, यह हेलिकॉप्टर जिले के कुछ हिस्सों में यूरेनियम (survey for the uranium) के भंडार का पता लगाने के लिए सर्वे कर रहा है. परमाणु खनिज विभाग के नक्शे के मुताबिक चिह्नित क्षेत्र में आधुनिक उपकरणों से खनिज भंडारों का पता लगाने के लिए स्कैनिंग कर रहा है. यह कार्य परमाणु खनिज अन्वेषण और अनुसंधान निदेशालय (AMD) हैदराबाद कर रहा है. सर्वे 31 मार्च तक चलेगा.

अधिक पढ़ें ...

संतोष बैरागी.

चित्तौड़गढ़. राजस्थान (Rajasthan) के चित्तौड़गढ़ (Chittorgarh) शहर में पिछले दो दिन से आसमान में उड़ रहा हेलिकॉप्टर (Helicopter) लोगों में कौतूहल का विषय बन रहा है. सोमवार को हेलिकॉप्टर एक जालनुमा डिवाइस को लेकर उड़ता हुआ दिखाई दिया. दरअसल, चित्तौड़गढ़ में परमाणु खनिज भंडारों (Minerals) का पता लगाने के लिए हेलिकॉप्टर से हवाई भू-भौतिकीय सर्वेक्षण किया जा रहा है. यह सर्वेक्षण (Survey) कार्य 31 मार्च तक चलेगा. चित्तौड़गढ़ के कई इलाकों में यह कार्य परमाणु खनिज अन्वेषण और अनुसंधान निदेशालय (AMD) हैदराबाद कर रहा है. परमाणु खनिज भंडारों के सर्वेक्षण के लिए परमाणु ऊर्जा विभाग ने प्रशासन से अनुमति ली है.

भूगर्भीय खनिज भंडारों के सर्वेक्षण कार्य के लिए हेलिकॉप्टर दिन में 3 बार उड़ान भर रहा है, जो परमाणु खनिज विभाग के नक्शे के मुताबिक चिह्नित क्षेत्र में आधुनिक उपकरणों से जमीन में खनिज भंडारों का पता लगाने के लिए स्कैनिंग कर रहा है. जमीन में परमाणु खनिज भंडारों का पता लगाने वाले आधुनिक उपकरणों से सुसज्जित हेलिकॉप्टर को पुलिस लाइन में बने हेलीपैड पर उतारा गया है. पिछले 2 दिन से उड़ रहा हेलिकॉप्टर कुछ हिस्सों में यूरेनियम होने का पता लगाने के लिए सर्वे कर रहा है.

परमाणु ऊर्जा विभाग की टीम दो दिन पहले आई चित्तौड़गढ़
इस सर्वेक्षण का उद्देश्य देश के परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम के लिए जरूरी भूगर्भीय खनिज भंडारों का पता लगाना है. सर्वेक्षण के लिए परमाणु ऊर्जा विभाग के भू-वैज्ञानिक, भू-भौतिकीय वैज्ञानिकों और टेक्नीशियनों की टीम लगी हुई है. भू वैज्ञानिकों की टीम दो दिन पहले इस अन्वेषण और सर्वेक्षण कार्य के लिए चित्तौड़गढ़ आई है. इसकी अनुमति के लिए परमिट रक्षा मंत्रालय और नागर विमानन महानिदेशक ने जारी किया है.

ये भी पढ़ें: पति ने बनाया अप्राकृतिक संबंध, जेठ ने भी की रेप की कोशिश, जान बचाकर भागी महिला 

अग्निशमन उपकरण और सुरक्षा की व्यवस्था की गई
अस्थायी हेलीबेस पर हेलिकॉप्टर ऑपरेटर द्वारा अग्निशमन उपकरण और सुरक्षा की व्यवस्था की गई है. उपखंड अधिकारी ने बताया कि गैसेस जियोटेट एयरबोर्न लिमिटेड कनाडा द्वारा AMD के लिए मैसर्स हिमालयन हेली सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के सहयोग से सर्वेक्षण किया जा रहा है. ईंधन की खपत को कम करने के उद्देश्य से रिज़र्व पुलिस लाइन में हेलिबेस बनाया गया हैं. हेलिकॉप्टर ईंधन और सुरक्षा कर्मियों के भंडारण के लिए तंबू लगा कार्य शुरू कर दिया है.

Tags: Rajasthan news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर