OMG! भगवान को बनाया बिजनेस 'पार्टनर'! दानपेटी में डाले सवा करोड़ रुपए कैश

News18 Rajasthan
Updated: September 11, 2019, 4:51 PM IST
OMG! भगवान को बनाया बिजनेस 'पार्टनर'! दानपेटी में डाले सवा करोड़ रुपए कैश
सांवलिया सेठ मंदिर के दानपात्र में केश डालते हुए महिला का एक वीडियो वायरल हो रहा है.

राजस्थान के सांवलिया सेठ मंदिर (sanwaliya seth temple) की दान पेटियों (donation boxes) में एक महिला की ओर से सवा करोड़ रुपए नकद दान करने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल (video goes viral) हो रहा है.

  • Share this:
चित्तौड़गढ़. राजस्थान के प्रसिद्ध सांवलिया सेठ मंदिर  (sanwaliya seth temple) में रखी दान पेटियों (donation boxes) में एक महिला की ओर से लाखों रुपए की नकदी डालने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल (video goes viral) हो रहा है. दअरसल, जलझूलनी एकादशी मेले के अंतिम दिन सावलिया सेठ के विग्रह को बाहर लाकर बेवाण (दरबार) में विराजित करने की तैयारी की जा रही थी उस दौरान श्रद्धालुओं में से एक महिला मंदिर में पहुंची हैं. भगवान के दर्शन के बाद अपने साथ लाए एक बैग से नगदी भरे लिफाफों को एक-एक करके दानपात्र में डालना शुरू कर देती हैं.

सवा करोड़ रुपए की नकदी दान की

इस महिला दानदाता ने चढ़ावे में एक के बाद एक करके करीब 50 से अधिक नकदी भरे लिफाफे दान पेटी में डाले. इस दृश्य को देख कर वहां मौजूद अन्य श्रद्धालु भी आश्चर्यचकित नजर आए. महिला की ओर से दान की गई राशि के बारे में कुछ नहीं बताया गया है. हालांकि एक  अनुमान के अनुसार सवा करोड़ रुपए की राशि महिला की ओर से दान की गई है.

sanwaliya seth temple, viral video
मेवाड़ के आराध्य देव श्रीसांवलिया सेठ के भण्डार की गिनती का काम हर अमावस के पहल चौदहवी के दिन होता है.


बिजनेस में पार्टनर बनाकर मुनाफे का हिस्सा चढ़ाते है भक्त

सांवलिया सेठ मंदिर से एक मान्यता जुड़ी है जिसके अनुसार यहां आने वाले भक्त सांवलिया सेठ को अपना बिजनेस पार्टनर भी मानते हैं. ऐसे में कई बिजनेसमैन अपनी आमदमी का एक हिस्सा दान पेटियों में चढ़ाते हैं. यही कारण है कि यहां की दान पेटियों को खोला जाता है तो पार्टनर सांवलिया सेठ के भंडारे में करोड़ों की नकदी और कई किलो सोना-चांदी मिलती है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चित्तौड़गढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 4:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...