होम /न्यूज /राजस्थान /देखिये क्यों, चूरू की इस महिला ने पैदा किए 12 बच्चे, इन्हें अपनी 11 बेटियों के नाम भी याद नहीं

देखिये क्यों, चूरू की इस महिला ने पैदा किए 12 बच्चे, इन्हें अपनी 11 बेटियों के नाम भी याद नहीं

गुड्डी की बड़ी बेटी की 22 साल की है और उसकी शादी भी हो चुकी है.

गुड्डी की बड़ी बेटी की 22 साल की है और उसकी शादी भी हो चुकी है.

चूरू जिले (Churu District) की तारानगर तहसील के झाड़सर गांव की 41 वर्षीय गुड्डी ने महज बेटे की चाहत (Wish of Son) में 12 ...अधिक पढ़ें

राजस्थान. चूरू जिले (Churu District) की तारानगर तहसील के झाड़सर गांव की 41 वर्षीय गुड्डी ने महज बेटे की चाहत (Wish of Son) में 12 बार प्रसव (Twelve Time Pregnant) पीड़ा सहन की है. 20 नवंबर को गुड्डी को चूरू के राजकीय मातृ एवं शिशु अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उसने अब बेटे को जन्म दिया है. हालांकि गुड्डी को अपनी 11 बेटियों के नाम ठीक से याद नहीं है, लेकिन बेटा पैदा होने के बाद गुड्डी भी खुश है. उसने बताया कि गांव के लोग बेटा नहीं होने पर ताना दिया करते थे और उसका पति भी वंश बढ़ाने के लिए बेटा चाहता था.

22 साल की है सबसे बड़ी बेटी

गुड्डी का पति कृष्ण कुमार गांव के ही भट्टे पर चाय की दुकान चलाता है. इस दंपति की बड़ी बेटी 22 साल की है. गुड्डी की तीन बेटियों की शादी भी हो चुकी है, जिनमें एक की शादी धीरवास और दो की शादी नापासर में हुई है. गुड्डी का नवजात बेटा जन्म के साथ मामा भी बन गया है क्योंकि उसकी बड़ी बहन को भी बेटा हो चुका है.

" isDesktop="true" id="2628658" >

तीन बेटियां प्राइवेट स्कूल में पढ़ती हैं बाकी जाती है सरकारी स्कूल

गुड्डी ने बताया कि उसकी 3 बेटियां प्राइवेट स्कूल में और बाकी सरकारी स्कूल में पढ़ती हैं. दो छोटी बेटियां अभी घर में रहती हैं. भले ही सरकार जनसंख्या नियंत्रण के लिए कितनी भी योजनाएं शुरू कर दे, लेकिन जब तक हमारे समाज मे बेटा पैदा करने की चाह बनी रहेगी तब तक जनसंख्या नियंत्रण के लिए बनाई गई योजनाएं बेमानी साबित होती रहेंगी.

यह भी पढ़ें: VIDEO: दूल्हा, दुल्हन और साली को लेकर लौट रहा था घर, धमाके के साथ जली कार

सांभर में मौत के 'कीटाणु' ने राेकी नमक सप्लाई! 1000 इकाइयों पर लगी पाबंदी

Tags: Churu news, Population control, Rajasthan news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें