लाइव टीवी

चूरू: रेप के मामलों में बाल सम्प्रेक्षण गृह में निरूद्ध 3 बाल अपचारी हुए फरार
Churu News in Hindi

Manoj K. Sharma | News18 Rajasthan
Updated: January 23, 2020, 5:22 PM IST
चूरू: रेप के मामलों में बाल सम्प्रेक्षण गृह में निरूद्ध 3 बाल अपचारी हुए फरार
रात के समय तीनों बाल अपचारियों ने बाल सम्प्रेक्षण गृह के चैनल गेट को तोड़ा और फिर रसोई के गेट का कुंदा तोड़कर फरार हो गए.

जिला मुख्यालय स्थित बाल सम्प्रेक्षण गृह से तीन बाल अपचारी (Juvenile delinquent) फरार हो गए. तीनों बाल अपचारी राजगढ़, भानीपुरा और सिद्धमुख थानों में दर्ज रेप के मामलों (Rape cases) में बाल सम्प्रेक्षण गृह में निरूद्ध थे.

  • Share this:
चूरू. जिला मुख्यालय स्थित बाल सम्प्रेक्षण गृह से तीन बाल अपचारी (Juvenile delinquent) फरार हो गए. तीनों बाल अपचारी राजगढ़, भानीपुरा और सिद्धमुख थानों में दर्ज रेप के मामलों (Rape cases) में बाल सम्प्रेक्षण गृह में निरूद्ध थे. बाल अपचारियों का अभी तक कोई सुराग नहीं लग पाया है. पुलिस (Police) तीनों की तलाश में जुटी है. घटना से बाल सम्प्रेक्षण गृह की सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान (Question mark) लग गया है.

लोहे के तवे के हत्थे से अपचारियों ने कुंदे को तोड़ा
बाल सम्प्रेक्षण गृह अधीक्षक अरुण सिंह शेखावत ने बताया कि तीनों अपचारी बुधवार रात को 12 बजे से गुरुवार को सुबह 5 के बीच फरार हुए हैं. रात के समय तीनों बाल अपचारियों ने बाल सम्प्रेक्षण गृह के चैनल गेट को तोड़ा और फिर रसोई के गेट का कुंदा तोड़कर फरार हो गए. रसोई में पड़े लोहे के तवे के हत्थे से अपचारियों ने कुंदे को तोड़ा.

सुरक्षाकर्मी सन्देह के घेरे में

पूरे घटनाक्रम में सम्प्रेक्षण गृह का सुरक्षाकर्मी सन्देह के घेरे में है. क्योंकि अपचारियों के भागते समय भी गार्ड ने उसका पीछा नहीं किया. ऐसा पहली बार नहीं है कि चूरू के बाल सम्प्रेक्षण गृह से कोई बाल अपचारी फरार हुआ है. इससे पहले भी सम्प्रेक्षण गृह से बाल अपचारी फरार हो चुके हैं. इधर सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घटनास्थल का निरीक्षण किया. गुरुवार को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव राजेश दड़िया और किशोर न्याय बोर्ड अध्यक्ष सहित अधिकारियों ने भी बाल सम्प्रेक्षण गृह का निरीक्षण किया. सम्प्रेक्षण गृह के अधीक्षक ने कोतवाली में इस मामले में रिपोर्ट दर्ज करवाई है.

भरतपुर और धौलपुर में भी इस तरह की घटनाएं होती रही हैं
उल्लेखनीय है इससे पहले भरतपुर और धौलपुर में भी इस तरह की घटनाएं होती रही हैं. इन घटनाओं से साफ जाहिर है कि बाल सम्प्रेक्षण गृहों में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम नहीं हैं. लगातार हो रही इन घटनाओं के बावजूद पुलिस-प्रशासन कोई सबक नहीं ले रहा है. 

बूंदी: मनरेगा श्रमिक की पत्नी बनी सरपंच, मतदाताओं ने वोट के साथ दिए नोट

पंचायत चुनाव का रोचक मुकाबला, पति 11 वोट से जीता, पत्नी की जमानत जब्त

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चूरू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 5:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर