लाइव टीवी

चूरू: रोमानिया के शरणार्थी कैम्प में फंसे 3 युवकों की वतन वापसी के प्रयास हुए शुरू

Manoj K. Sharma | News18 Rajasthan
Updated: January 14, 2020, 2:29 PM IST
चूरू: रोमानिया के शरणार्थी कैम्प में फंसे 3 युवकों की वतन वापसी के प्रयास हुए शुरू
जिला कलक्टर ने बताया कि पहले भी ऐसे मामले सामने आने के बाद स्किल डवलपमेंट एण्ड लेबर डिपार्टमेंट के सलाहकार को लिखा गया था, जिनका समाधान हुआ था.

धोखे (Fraud) के शिकार होकर रोमानिया (Romania) में शरणार्थी शिविर (Refugee camp) में फंसे चूरू जिले के सुजानगढ़ (Sujangarh) कस्बे के 3 युवकों की वतन वापसी (Return) के प्रयास शुरू हो गए हैं. इसके लिए प्रशासनिक स्तर (Administrative level) पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है.

  • Share this:
चूरू. धोखे (Fraud) के शिकार होकर रोमानिया (Romania) में शरणार्थी शिविर (Refugee camp) में फंसे चूरू जिले के सुजानगढ़ (Sujangarh) कस्बे के 3 युवकों की वतन वापसी (Return) के प्रयास शुरू हो गए हैं. इसके लिए प्रशासनिक स्तर (Administrative level) पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है. उसके बाद अब उम्मीद बंधी है कि ये युवक जल्द ही अपने घर लौट सकेंगे. जिला कलक्टर (District Collector) संदेश नायक ने इस मामले में कदम उठाते हुए स्किल डवलपमेंट एण्ड लेबर डिपार्टमेंट (Skill Development and Labor Department) के सलाहकार को पत्र लिखकर जरूरी कार्रवाई करने के लिए कहा है. इसके बाद लेबर डिपार्टमेंट के सलाहकार दूतावास (Embassy) से संपर्क करेंगे.

स्किल डवलपमेंट एण्ड लेबर डिपार्टमेंट के सलाहकार को लिखा पत्र
जिला कलक्टर संदेश नायक ने बताया कि इस संबंध में सुजानगढ़ के प्रगति नगर निवासी इंद्रचंद ने पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है. जिले में पहले भी ऐसे मामले सामने आने के बाद स्किल डवलपमेंट एण्ड लेबर डिपार्टमेंट के सलाहकार को लिखा गया था, जिनका समाधान हुआ था. इसलिए तीनों पीड़ितों को उनके मार्फत रोमानिया से स्वदेश वापस बुलाने के लिए अनुरोध किया गया है. वहीं इस संबंध में चूरू सांसद राहुल कस्वां ने भी पीड़ित युवकों की जानकारी मांगी है.


माइनस 8 डिग्री सेल्सियस की खून जमा देने वाली सर्दी से हुए बेहाल
उल्लेखनीय है कि सुजानगढ़ शहर के तीन युवक विदेश में अच्छा पैसा कमाने का सपना लेकर कस्बे के ही एक एजेंट के माध्यम से जर्मनी गए थे, लेकिन वे धोखेबाजी का शिकार हो गए. ये युवक जर्मनी के बजाय, अजरबैजान, सर्बिया और हंगरी होते रोमनिया पहुंच गए हैं. वहां दो युवक 7 माह से और एक युवक 3 माह से रोमानिया के शरणार्थी कैंप में फंसे हुए हैं. माइनस 8 डिग्री सेल्सियस की खून जमा देने वाली सर्दी से बेहाल तीनों युवकों ने पीएम नरेन्द्र मोदी से गुहार की है कि उन्हें स्वदेश वापस लाया जाए.

12-12 लाख रुपए लेकर विदेश भेजाआरोप है कि पीड़ित तीनों युवकों विकास सैनी, रामेंद्र गहलोत और पंकज जांगिड़ को एजेंट विनोद गहलोत ने जर्मनी में वर्क परमिट दिलाने की एवज में 12-12 लाख रुपए लेकर विदेश भेज दिया था. लेकिन वे जर्मनी की बजाय धक्के खाते-खाते रोमनिया पहुंच गए हैं.

 

पंचायत चुनाव: प्रथम चरण में सरपंची के लिए 17,242 उम्मीदवार डटे हैं मैदान में

जयपुर: DGP का कार्यकाल बढ़ाने पर सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से मांगा जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चूरू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 2:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर