Churu Gangwar Case: हमलावरों के फरार होने का CCTV फुटेज आया सामने, पुलिस को 9 आरोपियों की तलाश

सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

ढाणी मौजी गैंगवार मामला: पुलिस के हाथ वारदात से जुडे सीसीटीवी फुटेज (CCTV Footage) भी हाथ लगे हैं, जिनके आधार पर हत्याकाण्ड के 9 आरोपियों को चिन्हित किया गया है. यह सीसीटीवी फुटेज फायरिंग की वारदात के बाद का है.

  • Share this:
    चूरू. राजस्थान के चूरू (Churu) जिले के हमीरवास में 5 फरवरी को ढाणी मौजी गांव में एचएस प्रदीप स्वामी सहित दो ग्रामीण ईश्वरसिंह और निहालसिंह की हत्या मामले में पुलिस को जल्द ही बड़ी कामयाबी हासिल हो सकती है. पुलिस ने हत्याकांड (Murder) से जुड़े सभी आरोपियों को चिन्हित कर उनके संदिग्ध स्थानों पर दबिश देनी शुरू कर दी है. बीकानेर रेंज आईजी प्रफुल्ल कुमार सीधे तौर पर पूरे मामले की सादुलपुर पहुंचकर अपडेट ले रहे हैं. पुलिस के हाथ वारदात से जुडे सीसीटीवी फुटेज भी हाथ लगे हैं, जिनके आधार पर हत्याकाण्ड के 9 आरोपियों को चिन्हित किया गया है. यह सीसीटीवी फुटेज फायरिंग की वारदात के बाद का है.

    जानकारी के मुताबिक, दो बाइक पर सवार होकर आए 6 आरोपियों ने अंधाधुन फायरिंग की. इसके बाद एक बाइक पर तीन लोग फरार हो गए जबकि दूसरी बाइक स्टार्ट न होने पर तीन बदमाश पैदल ही वहां से भागे. इनमें से शेरा पंजाबी का शव गांव से कुछ ही दूर मिला था, जबकि एक अन्य आरोपी भागीरथ नायक गंभीर रूप से घायल हो गया था, जिसका जयपुर में इलाज किया जा रहा है. इनमें से एक आरोपी ने भागते हुए पिस्तौल की नोंक पर एक बाइक लुटी और चार बदमाश खेरू बडी गांव पहुंचे. जहां सोमवीर ने उन्हें कैंपर गाड़ी उपलब्ध करवाई और उन्हें हरियाणा की तरफ ले गया. यह सीसीटीवी फुटेज गांव खेरू बड़ी का है, जहां से आरोपी कैम्पर में फरार होने की तैयारी कर रहे हैं.

    दो आरोपियों की हो चुकी है गिरफ्तारी

    पुलिस अब तक इस मामले में दो आरोपियों सन्दीप और सोमवीर को गिरफ्तार कर चुकी है. इस सम्बन्ध में आईजी प्रफुल्ल कुमार ने बताया कि आरोपियों द्वारा मूवमेंट पैटर्न की तैयारी भी स्टेबलिस्ट कर ली गई है. हत्या में गिरफ्तार एवं रिमांड पर चल रहा आरोपी संदीप कुमार बैरासर अन्य आरोपियों के साथ शामिल था. वहीं सोमवीर इसमें सहयोगी था. संदीप कुमार वारदात कारित करने में शामिल था, वहीं सोमवीर ने हमलावरों को वाहन उपलब्ध करवाया. आईजी ने बताया कि उक्त दोनों आरोपियों से तो पूछताछ की जा रही है, वहीं घायल एवं जयपुर के अस्पताल में ईलाज के लिए भर्ती हमलावर भागीरथ से ईलाज के बाद ही पूछताछ की जाएगी.

    ये भी पढ़ें: Chamoli Disaster: अब तपोवन टनल की होगी ज्योग्राफिकल मैपिंग, थर्मल स्कैनिंग से फंसे लोगों की तलाश

    उन्होंने बताया कि हत्या की जांच में साइबर टीम काम कर रही है. जिले की बेस्ट पुलिस टीम भी लगी हुई है और एसपी नारायण टोगस कैंप कर रहे हैं. आईजी ने बताया कि हत्या के मामले में नामजद आरोपी बंशी निवासी बैरासर पर पांच हजार रुपए का ईनाम एसपी द्वारा घोषित किया गया है. वहीं दूसरे आरोपी राजेश निवासी ढाणी केहर पर पहले से घोषित 15 हजार रुपए के ईनाम को बढ़ाने की अनुशंसा मुख्यालय भेजी गई है. पुलिस टीम कड़ी से कड़ी जोड़कर आगे बढ़ने का प्रयास कर रही है और इसमें कुछ उत्साहजनक लीड भी मिले हैं, उस पर काम किया जा रहा है. आईजी ने बताया कि अन्य फरार आरोपियों के खिलाफ भी मामले दर्ज हैं, जिनके क्रिमिनल रिकॉर्ड अपडेट किए जा रहे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.